किसानों ने सड़क पर फेंकी प्याज, दामों में भारी गिरावट से नाराज हैं प्याज उत्पादक किसान

इंदौर की चोइथराम सब्जी मंडी में 1 रुपए से 5 रुपए प्रति किलो की दर से बिक रही प्याज, किसानों ने कहा इससे ज्यादा तो लग रही है ढुलाई, व्यापारियों का आरोप खराब प्याज खपाने लाए हैं किसान

Updated: Jan 03, 2022, 11:27 AM IST

किसानों ने सड़क पर फेंकी प्याज, दामों में भारी गिरावट से नाराज हैं प्याज उत्पादक किसान
Photo Courtesy: one india

इंदौर। मध्यप्रदेश के प्याज किसानों की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। भोपाल, रतलाम, इंदौर समेत प्रदेशभर की मंडियों में प्याज के रेट लगातार कम होते जा रहे हैं। दामों में गिरावट से परेशान इंदौर के किसानों ने अपनी प्याज की फसल सड़कों पर फेंक दीं। इंदौर की सबसे बड़ी चोइथराम मंडी में प्याज व्यापारी किसानों से 1से 5 रुपए प्रति किलो की दर से प्याज खरीद रहे हैं। जिससे  किसानों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। किसानों की मानें तो खाद-बीज, सिंचाई और ढुलाई का खर्चा भी नहीं निकल पा रहा है।

ग्रामीण इलाकों से मंडी में प्याज बेचने आई किसानों को 3-4 रुपये किलो की दर से माल ढुलाई का किराया लग जाता है। अब अगर इतने सस्ते में प्याज बिकेगी तो उन्हें कोई फायदा होने वाला नहीं है, इसलिए मजबूरी में वे सड़कों पर ही प्याज फेंककर प्रदर्शन का रास्ता अपना रहे है। वहीं चोइथराम मंड़ी के प्याज व्यापारियों का आरोप है कि किसान पुराना स्टॉक क्लियर करने के लिए खराब प्याज बेच रहे हैं।

ऊंचे दाम मिलने के लालच में किसानों ने पिछले साल प्याज स्टॉक करके रख ली थी, उन्हें उम्मीद थी की प्याज मंहगी बिकेगी  लेकिन ऐसा नहीं हुआ, अब वे पुरानी और खराब प्याज बेच रहे हैं। जिसके दाम क्वालिटी के हिसाब से 100 से 500 रुपए क्विंटल ही दिए जा रहे हैं। इससे नाराज किसानों ने माल सड़कों पर फेंक दिया है।  वहीं किसानों का आरोप है कि व्यापारी प्याज का भाव चढ़ने दे रहे हैं ताकि किसानों की मजबूरी का फायदा उठाकर वे मुनाफा कमा सकें।