इंटरनेशनल लेफ्ट हैंडर्स डे पर उनको सलाम, जो करते हैं उल्टे हाथ से काम

लेफ्ट हैंडर्स को महत्व देने और उनकी दिक्कतों को दुनिया के सामने लाने के उद्देश्य से मनाया जाता है इंटरनेशनल लेफ्ट हैंडर्स डे, भारत के पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स, फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग भी हैं लिस्ट में शामिल

Updated: Aug 13, 2021, 03:16 PM IST

इंटरनेशनल लेफ्ट हैंडर्स डे पर उनको सलाम, जो करते हैं उल्टे हाथ से काम
Photo Courtesy: twitter

13 अगस्त को इंटरनेशनल लेफ्टहैंडर्स डे मनाया जाता है। इस दिन को मनाने के पीछे दुनिया में लेफ्ट हैंड से काम करने वालों कि दिक्कतों को सामने लाना हैं। पूरी दुनिया में करीब 10 फीसदी लोग उल्टे हाथ से काम करते हैं। कई बार उन्हें लोग अजूबे की तरह से देखते हैं। वहीं हमारे आसपास की ज्यादातर चीजें और सुविधाएं सीधे हाथ से काम करने वालों के हिसाब से तैयार की जाती हैं। और गाहे बगाहे उन चीजों के इस्तेमाल के दौरान लेफ्ट हैंडर्स को परेशानियों से दो चार होना पड़ता है। बावजूद इसके लेफ्ट हैंडर्स मल्टीटैलेंटेड होते हैं, अपनी क्रिएटिविटी से आर्ट और म्यूजिक, खेल, राजनीति, विज्ञान समेत हर क्षेत्र में कमाल करते हैं।

देश और दुनिया में बहुत सी हस्तियां लेफ्टी हैं। इनमें खिलाड़ी, एक्टर, नेता भी शामिल हैं। भारत की बात करें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उद्योगपति रतन टाटा, मिलेनियम स्टार अमिताभ बच्चन, मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर, सौरभ गांगुली लेफ्टी हैं। कई लेफ्टी हस्तियां तो ऐसी भी हैं जो दोनों हाथों से काम करने में महारत रखती हैं।

वहीं अमेरिका के इतिहास पर नजर डाली जाए तो वहां पांच लेफ्टी राष्ट्रपतियों ने देश पर राज किया है। उनमें सबसे पहला नाम रोनाल्ड रीगन का आता है, इन्हीं में जेराल्ड फोर्ड, जॉर्ज बुश, बिल क्लिंटन और बराक ओबामा भी इस लिस्ट में शुमार हैं।  

फ्रांस क्रांति के सेनानायक नेपोलियन बोर्नापार्ट, ग्रीक प्रशासक एलेक्जेंडर द ग्रेट, स्पेन के महान चित्रकार पाबलो पिकासो, ब्रिटिश साइंटिस्ट आईसेक न्यूटन,  जर्मन साइंटिस्ट अल्बर्ट आइंस्टीन, इंग्लिश कॉमेडियन चार्ली चैपलिन, अमेरिकन एक्टर टॉम क्रूज, अमेरिकन एक्ट्रेस जूलिया रॉबर्ट, ब्रिटेन की महारानी विक्टोरिया, इटालियन पेंटर लियोनार्डो दा विंची ने भी लेफ्टी होने के बाद भी अपने क्षेत्र में नाम कमाया। उल्टे हाथ से काम करने वाले कला, साहित्य, खेल, राजनीति, और विज्ञान के फील्ड में अपना नाम रोशन कर चुके हैं।

वर्तमान दौर के सफल व्यक्तियों की बात करें तो माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स, फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग, पॉप सिंगर जस्टिन बीबर और लेडी गागा, टॉक शो होस्ट ओपरा विनफ्रे, एप्पल के संस्थापक स्टीव जॉब्स भी लेफ्ट हैंड से काम करते हैं।

 एक रिसर्च का दावा है कि लड़कियों की अपेक्षा लड़कों में ज़्यादा लेफ्ट हैंडर होने के चांस होते हैं। माना जाता है कि इंसान के लेफ्टी होने में टेस्टोस्टरॉन हार्मोन की भी महत्वपूर्ण भूमिका होती है।   अमेरिकन जर्नल ऑफ साइकोलॉजी की एक पुरानी रिपोर्ट के अनुसार लेफ्टी लोगों की सोच औरों से काफी अलग होती है। वे ज्यादा क्रिएटिव होते हैं। लेफ्टी होने के पीछे जेनेटिक कारण होते हैं। इसके लिए जींस जिम्मेदार होते हैं। माना जाता है कि लेफ्टी लोगों की कम्यूनिकेशन स्किल्स काफी अच्छी होती हैं, वे अपनी बातों से लोगों को आकर्षित कर लेते हैं। वे क्रिएटिव होते हैं।

लेफ्टी लोगों की खूबियां बताने और उनमें यूनिटी लाने के लिए लेफ्ट हैंडर्स डे की शुरुआत 1976 में हुई थी। इसके बाद से कई लेफ्ट हैंडर्स क्लब और एसोसिएशन का गठन दुनियाभर में हुआ। हेल्थ की दृष्टि से भी लेफ्टी होना फायदेमंद है, कई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि लेफ्टी लोगों को अल्सर और अर्थराइटिस जैसी बीमारियों का खतरा ना के बराबर होता है।