राष्ट्रपति बनते ही जो बाइडेन ने हटाया मुस्लिम देशों से ट्रेवल बैन, ट्रंप के कई फ़ैसले पलटे

शपथग्रहण वाले दिन ही अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक के बाद एक ताबड़तोड़ 17 एग्जिक्यूटिव ऑर्डर्स पर किया हस्ताक्षर, कहा- मेरे पास बिल्कुल समय नहीं

Updated: Jan 21, 2021, 02:41 PM IST

राष्ट्रपति बनते ही जो बाइडेन ने हटाया मुस्लिम देशों से ट्रेवल बैन, ट्रंप के कई फ़ैसले पलटे
Photo Courtesy: AP

वॉशिंगटन। अमेरिका के नए राष्ट्रपति बनने के साथ ही जो बाइडेन एक्शन मोड़ में आ गए हैं। शपथग्रहण के तत्काल बाद बाइडेन अपने कार्यालय पहुंचे और ताबड़तोड़ 17 एग्जिक्यूटिव ऑर्डर्स पर हस्ताक्षर कर दिए। बाइडेन ने अपने कार्यकाल के पहले ही दिन पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कई फैसलों को पलट दिया। उन्होंने मास्क पहनना अनिवार्य करने के साथ ही मुस्लिम देशों पर लगे ट्रेवल बैन को भी खत्म कर दिया।

पहली बार बतौर राष्ट्रपति कार्यालय पहुंचने के बाद बाइडेन ने कहा कि मेरे पास समय बहुत कम है इसलिए अभी से काम में जुट गया हूं। उन्होंने कहा, 'मुझे कई काम करने हैं, इसलिए मैं यहां हूं। मुझे लगता है कि मेरे पास बिल्कुल समय नहीं है। वक्त बर्बाद नहीं किया जा सकता है। तुरंत काम शुरू करने जा रहा हूं। मैं पहले ही बता चुका हूं कि अगले एक हफ्ते में कई एग्जिक्यूटिव ऑर्डर्स पर साइन करूंगा।'

बाइडेन के अहम फैसले

* बाइडेन ने सबसे पहले कोरोना महामारी को कंट्रोल करने के लिए बड़ा फैसला लिया। उन्होंने मास्क को फेडरल प्रॉपर्टी घोषित कर दिया है। यानी अमेरिका में हर व्यक्ति को मास्क पहनना अनिवार्य होगा। जबकि ट्रंप ने मास्क को लेकर अबतक कोई सख्ती नहीं की थी यहां तक कि वह खुद मास्क नहीं पहनते थे।

* मुस्लिम देशों से ट्रेवल बैन खत्म। बाइडेन ने 7 मुस्लिम देश इराक, ईरान, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन पर लगा ट्रैवल बैन हटा दिया है। ट्रंप प्रशासन ने साल 2017 में यह पाबंदी लगाई थी।

* विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) में अमेरिका की वापसी। ट्रंप ने पिछले साल ही डब्ल्यूएचओ से बाहर आने का फैसला लिया था। वहीं बाइडेन ने चुनाव के दौरान ही वादा किया था कि राष्ट्रपति बनने के दिन ही डब्ल्यूएचओ में अमेरिका की वापसी कराउंगा ताकि ग्लोबल हेल्थ के लिए अमेरिका योगदान कर सके और खुद भी सुरक्षित रहे।

* मैक्सिको बॉर्डर पर बन रहे दीवार में लगाई तत्काल रोक। ट्रंप ने मैक्सिको से आने वाले प्रवासियों को देखते हुए दीवार बनाए जाने को नेशनल इमरजेंसी बताया था। बाइडेन ने इस दिशा में काम के साथ ही फंडिंग पर भी रोक लगा दी है।

* पेरिस समझौते में भी अमेरिका की वापसी। ट्रंप ने साल 2019 में यह कहते हुए अमेरिका को पेरिस समझौते से बाहर कर लिया था कि भारत, चीन और रूस धड़ल्ले से प्रदूषण बढ़ा रहे हैं। अब बाइडेन ने ट्रंप के इस फैसले को पलटकर दोबारा से अमेरिका को पेरिस जलवायु समझौते में लाया है।

* कनाडा के साथ विवादित क्रिस्टोन XL पाइपलाइन समझौते पर लगाई रोक। ट्रंप ने कनाडा के साथ 1900 किमी लंबी तेल पाइपलाइन बनाने का करार किया था। बाइडेन के इस फैसले पर कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने निराशा जताई है।

बाइडेन ने इनसब के अलावा कई अन्य बड़े फैसले लिए हैं, जिनमें अमेरिका के आम लोगों को बड़े आर्थिक मदद देने का ऐलान, नस्लभेद को खत्म करने की ओर कदम, स्टूडेंट लोन के किस्त वापसी को टालना और बेहतर यूनियन जॉब्स तैयार करने व एनवायरमेंटल जस्टिस शामिल हैं। इसके साथ ही जनगणना से गैर नागरिकों को बाहर करने वाला आदेश भी रद्द कर दिया गया है।