साउथ अफ्रीका की संसद में लगी भीषण आग, नेशनल असेंबली जलकर खाक

केपटाउन के सुरक्षा प्रभारी अधिकारी जेपी स्मिथ ने बताया की संसद भवन कार्यालय की इमारत की एक मंजिल जलकर राख बन गई है और छत पूरी तरह ढह गई है

Updated: Jan 03, 2022, 10:33 AM IST

साउथ अफ्रीका की संसद में लगी भीषण आग, नेशनल असेंबली जलकर खाक
Photo Courtesy: India Today

केपटाउन। साउथ अफ्रीका की राजधानी केपटाउन स्थित संसद भवन परिसर में रविवार को भीषण आग लग गई। आग इतनी भयानक थी कि नेशनल असेंबली को पूरी तरह से खाक कर दिया। इस घटना में कई दफ्तर जलकर खाक हो गए और इमारत की कुछ छतें ढह गईं। जर्मेन कैरेलसे ने कहा कि आग रविवार सुबह लगी थी और तकरीबन 70 दमकल कर्मी आग पर काबू पाने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। 

राहत की बात ये है की इस घटना में किसी के भी जख्मी होने की खबर नहीं है। चूंकि, संसद छुट्टियों की वजह से बंद है ऐसे में मौके पर बहुत ज्यादा लोग थे भी नहीं। साउथ अफ्रीकन राष्ट्रपति सिरिल रामाफोस ने इस घटना को लेकर कहा की पुलिस ने इस मामले में एक शख्स को हिरासत में लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है। 

लोक निर्माण और बुनियादी ढांचा मंत्री पैट्रीसिया डी लिले ने रविवार को स्थानीय पत्रकारों से कहा की आग वर्तमान में नेशनल असेंबली कक्षों में लगी हुई है। यह लोकतंत्र के लिए बहुत दुखद दिन है, क्योंकि संसद हमारे लोकतंत्र का घर है। हम आग को नेशनल असेंबली तक ही सीमित नहीं कर सके। छत के कुछ हिस्से गिर पड़े हैं।'

केप टाउन के सुरक्षा प्रभारी अधिकारी जेपी स्मिथ ने मीडिया को बताया कि संसद भवन कार्यालय की इमारत की कम से कम एक मंजिल जलकर पूरी तरह से राख बन चुकी है और पूरी छत भी ढह गई है। फायर ब्रिगेड के लोग नेशनल असेंबली की इमारत को बचाने पर ध्यान दे रहे हैं जहां दक्षिण अफ्रीकी संसद बैठती है।

यह भी पढ़ें: IMA और ICWA का ट्वीटर हैंडल हुआ हैक, हैंडल का नाम बदलकर किया एलन मस्क

बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद इमारतों के गिरने का खतरा है और उनमें रखीं ऐतिहासिक कलाकृतियों के क्षतिग्रस्त या नष्ट होने की आशंका है। अफ्रीकन संसद भवन परिसर में तीन मुख्य खंड हैं। मूल संसद भवन 1800 के दशक के अंत में पूरा हुआ और दो नए हिस्से 20 वीं शताब्दी में बने। आग शुरू में नेशनल असेंबली के पीछे स्थित पुराने संसद भवन तक ही सीमित थी। फायर ब्रिगेड ने स्थिति को कंट्रोल करने की पूरी कोशिशें की आग मौजूदा संसद की इमारत तक पहुंच गई।