ब्राजील कांग्रेस और सुप्रीम कोर्ट में घुसे बोल्सोनारो समर्थक, पीएम मोदी ने दंगों और तोड़फोड़ पर जतायी चिंता

ब्रासीलिया में सरकारी संस्थानों के खिलाफ दंगे और तोड़-फोड़ की खबरों से बेहद चिंतित हूं. लोकतांत्रिक परंपराओं का सभी को सम्मान करना चाहिए. हम ब्राजील के अधिकारियों को अपना पूरा समर्थन देते हैं: पीएम मोदी

Updated: Jan 09, 2023, 10:09 AM IST

ब्राजील कांग्रेस और सुप्रीम कोर्ट में घुसे बोल्सोनारो समर्थक, पीएम मोदी ने दंगों और तोड़फोड़ पर जतायी चिंता

ब्रासीलिया। ब्राजील के धुर दक्षिणपंथी नेता व पूर्व राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो के समर्थकों ने रविवार को पुलिस बैरिकेड्स तोड़कर कांग्रेस, राष्ट्रपति भवन और सुप्रीम कोर्ट में धावा बोल दिया। बोल्सोनारो समर्थकों। ने सुप्रीम कोर्ट के मुख्यालय में घुसकर तोड़फोड़ की और रैम्प से प्लानाल्टो प्रेसिडेंशियल पैलेस तक चढ़ गए। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हमले की निंदा की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, 'ब्रासीलिया में सरकारी संस्थानों के खिलाफ दंगे और तोड़-फोड़ की खबरों से बेहद चिंतित हूं। लोकतांत्रिक परंपराओं का सभी को सम्मान करना चाहिए। हम ब्राजील के अधिकारियों को अपना पूरा समर्थन देते हैं।'

ब्राजील के शासकीय संस्थाओं पर हमले की इस घटना ने अमेरिका की कैपिटल हिंसा की यादें ताजा कर दी। प्रदर्शनकारियों ने हरे और पीले झंडे के कपड़े पहने थे, उनमें से एक समूह के लोग सदन अध्यक्ष की कुर्सी पर चढ़ गए और वहां उसके आसपास जमा हो गए। राष्ट्रपति लुइज़ इनासियो लूला इस दौरा  अरराक्वारा के दक्षिणपूर्वी शहर में गंभीर बाढ़ से प्रभावित एक क्षेत्र का दौरा कर रहे थे। 

राष्ट्रपति लूला ने कहा कि इन फासीवादी कट्टरपंथियों ने कुछ ऐसा किया है जो इस देश के इतिहास में पहले कभी नहीं देखा गया है। घटना से संबंधी एक वायरल वीडियो में बाहर भीड़ को एक पुलिसकर्मी को उसके घोड़े से खींचकर जमीन पर गिराते हुए दिखाया गया है। लूला ने कहा कि, 'हम पता लगाएंगे कि ये उपद्रवी कौन हैं और कानून की पूरी ताकत के साथ उनसे निपटेंगे।'

यह भी पढ़ें: ब्राजील की सत्ता में लूला डा सिल्वा की वापसी, दक्षिणपंथी नेता बोलसोनारो को हराया

बता दें कि दुनिया के चौथे सबसे बड़े लोकतंत्र ब्राजील के सियासत में अक्टूबर 2022 में बड़ी उलटफेर हुई थी। वामपंथी नेता इनासियो लूला डा सिल्वा ब्राजील के नए राष्ट्रपति चुने गए थे। उन्होंने दक्षिणपंथी विचारधारा वाले सत्ताधारी राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो को करीबी टक्कर में हरा दिया था। हालांकि जेयर बोल्सोनारो अपनी हार को स्वीकार नहीं कर रहे। बिलकुल वैसे ही जैसे अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किया था। बोल्सोनारो ट्रंप को अपना राजनीतिक रोल मॉडल मानते हैं।