हेट स्पीच को लेकर ट्विटर ने बनाई नई पॉलिसी, ऐलन मस्क बोले- हेट ट्वीट्स को डिबूस्ट करेंगे

मस्क ने कहा कि हेट ट्वीट्स को डीबूस्ट और डिमोनेटाइज्ड किया जाएगा, उन्होंने कैपिटल हिल हिंसा के बाद से बैन डोनाल्ड ट्रंप के संबंध में लोगों से राय भी ली।

Updated: Nov 19, 2022, 09:24 AM IST

हेट स्पीच को लेकर ट्विटर ने बनाई नई पॉलिसी, ऐलन मस्क बोले- हेट ट्वीट्स को डिबूस्ट करेंगे

कैलिफोर्निया। टेस्ला कंपनी के मालिक एलन मस्क ने जब से ट्विटर की कमान संभाली है, वे हर दिन कोई न कोई नया बदलाव कर रहे हैं। मस्क लगातार ट्विटर को नया रूप देने की कोशिश में लगे हैं। शुक्रवार को मस्क ने नई ट्विटर पॉलिसी का ऐलान किया। एक ट्वीट में उन्होंने कहा कि नई ट्विटर नीति फ्रीडम ऑफ स्पीच है, फ्रीडम ऑफ रीच नही। उन्होंने यह भी कहा कि हम हेट स्पीच या निगेटिव कंटेंट वाले ट्वीट्स को बढ़ावा नहीं देंगे।

एलन मस्क ने ट्वीट करके कहा कि नई ट्विटर नीति बोलने की स्वतंत्रता है, लेकिन पहुंच की स्वतंत्रता नहीं है।नकारात्मक/घृणास्पद ट्वीट्स को अधिकतम डीबूस्ट और डिमोनेटाइज किया जाएगा। इसलिए ट्विटर पर कोई विज्ञापन या अन्य राजस्व नहीं होगा। उन्होंने यह भी घोषणा की कि ट्विटर कई विवादास्पद खातों को फिर से शुरू करने की योजना बना रहा है जिन्हें पहले प्रतिबंधित या निलंबित कर दिया गया था।

हालांकि एलन मस्क ने साफ किया कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अकाउंट को लेकर कंपनी ने अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया है। मस्क ने कहा कि विवादास्पद कनाडाई पॉडकास्टर जॉर्डन पीटरसन और राइट-झुकाव वाली व्यंग्य वेबसाइट बाबुल बी, जिन्हें पहले मंच से प्रतिबंधित कर दिया गया था, उनके खातों को बहाल कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कॉमेडियन कैथी ग्रिफिन का खाता भी बहाल हो जाएगा।

मस्क ने ट्विटर यूजर्स से अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अकाउंट को लेकर सुझाव मांगा है। उन्होंने ने एक पोल क्रिएट किया जिसमें दो घंटे के भीतर चार लाख से ज्यादा लोग हिस्सा ले सकते हैं। 56 फीसदी लोग ट्रंप का अकाउंट बहाल करने की पैरवी कर रहे हैं। वहीं बाकी के 44 फीसदी लोगों ने कहा है कि उन्हें बैन ही रखा जाए।

बता दें कि अब तक एलन मस्क ने कमान संभालने के बाद से कई बड़े बदलाव कर चुके ट्वीटर पर वेरीफाइड अकाउंट को अब ऑफिशियल बैज दिया जाने लगा है। वहीं Twitter Blue के लिए कंपनी ने 8 डॉलर प्रति महीने चार्ज करने का फैसला किया है। ट्वीटर की 8 डॉलर प्रति महीने वाली स्कीम दुनिया के 5 देशों में लागू हो गई।