छात्रों के टीकाकरण में लापरवाही करने वाले स्कूलों पर एक्शन, इंदौर प्रशासन ने 5 स्कूल किए सील

इंदौर में दो दिनों में 7 स्कूलों पर की गई कार्रवाई, स्कूल संचालकों, प्राचार्यों को डाटा अपडेट करने के निर्देश, छात्रों के वैक्सीनेशन को लेकर धारा 144 लगाई गई

Updated: Feb 02, 2022, 01:29 PM IST

छात्रों के टीकाकरण में लापरवाही करने वाले स्कूलों पर एक्शन, इंदौर प्रशासन ने 5 स्कूल किए सील
Photo Courtesy: economics times

इंदौर। देश के साथ-साथ प्रदेश में भी 15 से 17 साल के किशोरों का वैक्सीनेशन जारी है। छात्रों का टीकाकरण अनिवार्य करने के बाद भी स्कूलों में लापरवाही बरतने की शिकायतें मिली हैं। मंगलवार को 5 स्कूलों समेत दो दिन में कुल 9  स्कूलों को सील करने की कार्रवाई की जा चुकी है।छात्रों के टीकाकरण के मद्देनजर जिले में धारा 144 लगा दी गई है। मंगलवार को ऐसे पांच स्कूलों पर कार्रवाई की गई। प्रशासन ने स्कूल संचालकों और प्राचार्यों से बच्चों की वैक्सीन से जुड़ी हर जानकारी अपडेट रखने को कहा गया है। इस निर्देश की अवहेलना करने वाले स्कूलों को बंद करवा दिया जाएगा। वही प्रिंसिपल और संचालकों पर भी एक्शन लेने की बात कही गई है। बच्चों के वैक्सीनेशन की जांच के दौरान इंदौर के आगरा गांव स्थित सरकारी हायर सेकंडरी स्कूल में 100 प्रतिशत बच्चों के टीकाकरण का लक्ष्य हासिल कर लिया है। कलेक्टर ने इस स्कूल के छात्रों और प्रबंधन की तारीफ की है।

हातोद के ज्ञान सरोवर एकेडमी, कनाड़िया के स्प्रिंग वैली हायर सेकंडरी स्कूल,  गोल्डन इंटरनेशनल स्कूल रंगवासा और सेंट नॉबर्ट में वैक्सीनेशन का प्रतिशत  कम होने की वजह से कार्रवाई की गई। महू के लिटिल एंजेल स्कूल में भी प्राचार्य का कमरा सील किया गया।

स्कूल प्रबंधन को 15 से 17 साल के बच्चों की लिस्ट औऱ वैक्सीनेशन सर्टीफिकेट अपडेट रखने को कहा गया है, निरीक्षण के दौरान टीम से समक्ष सारा रिकॉर्ड दिखाना होगा। जिले से सभी सरकारी और निजी स्कूलों के प्रिंसिपल के पास जानकारी होनी चाहिए कि बच्चों के पहली और दूसरी डोज कब लगनी है।  वहीं बच्चों द्वारा वैक्सीन नहीं लगवाने की जानकारी भी प्राचार्य के पास होनी चाहिए।

इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने स्कूल प्रबंधन को सख्त चेतावनी जारी दी है कि योग्य छात्रों का टीकाकरण सुनिश्चित करना स्कूलों, शिक्षा अधिकारियों और प्राचार्यों की जिम्मेदारी है। ऐसा नहीं करने वालों पर महामारी रोग अधिनियम 1897 के तहत सख्त कार्रवाई होगी।   बीते 24 घंटों में 15 से 17 साल के केवल 5095 बच्चों को सेकंड डोज लगाई गई। प्रदेश के कई जिलों में अब भी कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, इंदौर में बीते 24 घंटों में 1438 नए मरीज मिले हैं। जिले में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 2.01 लाख से ज्यादा हो गया है।