देश बेच दिया, अब राष्ट्रीय ध्वज बेचने निकले हैं, BJP दफ्तर में तिरंगा विक्रय केंद्र खोलने पर भड़की कांग्रेस

मध्य प्रदेश बीजेपी मुख्यालय पर वीडी शर्मा ने शुरू किया तिरंगा विक्रय केंद्र, प्रदेशभर में राष्ट्रीय ध्वज बेचेगी बीजेपी, विपक्षी दल कांग्रेस की तल्ख टिप्पणी- ये आजादी के मुखबिर अब अमृत महोत्सव मनाने का ढोंग कर रहे हैं

Updated: Aug 02, 2022, 05:30 PM IST

देश बेच दिया, अब राष्ट्रीय ध्वज बेचने निकले हैं, BJP दफ्तर में तिरंगा विक्रय केंद्र खोलने पर भड़की कांग्रेस

भोपाल। आजाद भारत के मान सम्मान की प्रतीक राष्ट्रीय ध्वज "तिरंगे" को लेकर सियासत बढ़ती जा रही है। पहले प्रधानमंत्री मोदी ने गोलाकार तिरंगे को सोशल मीडिया डीपी बनाकर विवाद खड़ा किया। अब बीजेपी राष्ट्रीय ध्वज की खरीद बिक्री में जुट गई है। मध्य प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष वीडी शर्मा ने पार्टी मुख्यालय में मंगलवार को तिरंगा विक्रय केंद्र का उद्घाटन किया।

वीडी शर्मा ने बताया कि प्रदेश कार्यालय सहित सभी 1070 मंडलों व जिला केन्द्रों पर इस तरह के केन्द्र बनाये जा रहे हैं। सत्ताधारी दल द्वारा राष्ट्रीय ध्वज की बिक्री पर विपक्षी दल कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस ने कहा कि अंग्रेजों के इन मुखबिरों ने पहले देश बेच दी और अब राष्ट्रीय ध्वज बेचने निकले हैं। 

एमपी कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने कहा कि, 'विश्व की सबसे धनवान पार्टी की कृपणता देखिए, दिल्ली में दफ्तर के निर्माण, सरकारें गिराने के लिए अरबों रुपए हैं। हमारे बलिदान, त्याग के प्रतीक तिरंगे को बेचने के लिए अब पार्टी ऑफिस में तिरंगा विक्रय केंद्र? देश के बाद अब तिरंगा भी बिक रहा है?आजादी के मुखबिर, अब अमृत महोत्सव?'

छात्र संगठन एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता सुह्रद तिवारी ने कहा कि, "देश को आजाद करने के लिए हमारे पुरखों ने खून का एक एक कतरा न्योछावर किया, तब जाकर 1947 में लाल किले पर शान से तिरंगा लहराया। अब ये माफीवीरों के वंशज उस तिरंगा को बेचने निकले हैं? अंग्रेजों के इन मुखबिरों को भारत मां की आबरू बेचने शर्म तक नहीं आ रही? उस तिरंगे को बेचा जा रहा है जिसके लिए देश के सैनिक हंसते हंसते सीने पर गोलियां झेलते हैं। ये देश के साथ गद्दारी है। हम राष्ट्रीय ध्वज का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे। कांग्रेस ने अंग्रेजी हुकूमत को उखाड़ फेंका था। मोदी हुकूमत का भी वही हश्र होगा।"

कांग्रेस के आरोपों पर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि, 'हर घर तिरंगा के देशव्यापी अभियान से कांग्रेस को पेट में दर्द क्यों है? देशभक्ति व राष्ट्रभक्ति से कांग्रेस को हमेशा पीड़ा होती है, ये कांग्रेस का मानसिक दिवालियापन है। हर घर तिरंगा लगाना ये भारत का सम्मान और अभिमान है। हमारा प्रयास है कि हर आम नागरिक को राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा आसानी से उपलब्ध हो। लेकिन कांग्रेस को हर अच्छे अभियान से दिक्कत है।'

इससे पहले पीएम मोदी ने सोशल मीडिया डीपी में तिरंगा का फोटो लगाया था। ट्विटर यूजर्स ने इसे फ्लैग कोड का उल्लंघन बताते हुए प्रधानमंत्री को संविधान और कानून की कोचिंग लेने की सलाह दे डाली। लीगल एक्सपर्ट्स भी बीजेपी नेताओं के इस पहल को ध्वज संहिता का उल्लंघन मान रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने डीपी में लगाया गोलाकार तिरंगा, एक्सपर्ट्स ने बताया फ्लैग कोड का उल्लंघन

इंदौर हाईकोर्ट के वकील जयस गुरनानी ने बताया कि, 'राष्ट्रीय ध्वज को कॉमर्शियल उद्देश्य या किसी अन्य उद्देश्य के लिए इस्तेमाल नहीं कर सकते। फ्लैग कोड में ध्वज के आकार का उल्लेख किया गया है। बीजेपी ध्वज संहिता का उल्लंघन कर रही है। इसके लिए आपराधिक प्रकरण भी पंजीबद्ध किया जा सकता है।' बता दें कि फ्लैग कोड के अनुसार तिरंगे का निर्माण हमेशा रेक्टेंगल शेप में ही होगा, जिसका अनुपात 3:2 होना चाहिए। जबकि अशोक चक्र का कोई माप तय नही हैं, सिर्फ इसमें 24 तिल्लियां होनी आवश्यक हैं। फ्लैग कोड का उल्लंघन करने पर सजा का भी प्रावधान है।