भोपाल: पैरामेडिकल छात्रों ने डिपार्टमेंट में की तोड़फोड़, NSUI बोली- ब्यूटीपार्लर से बाहर निकलें मंत्री विश्वास सारंग

MP के पैरामेडिकल छात्रों का फूटा गुस्सा, मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट में की तोड़फोड़, एक ही क्लास में दो साल से अधिक समय से पढ़ रहे हैं छात्र, NSUI मेडिकल विंग ने कहा कि चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग छात्रों का भविष्य चौपट कर ब्यूटीपार्लर में चेहरा चमका रहे हैं

Updated: Nov 20, 2021, 09:26 PM IST

भोपाल: पैरामेडिकल छात्रों ने डिपार्टमेंट में की तोड़फोड़, NSUI बोली- ब्यूटीपार्लर से बाहर निकलें मंत्री विश्वास सारंग

भोपाल। मध्य प्रदेश मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी के पैरामेडिकल छात्रों के सब्र का बांध शनिवार को टूट गया और पैरामेडिकल छात्रों ने राजधानी भोपाल स्थित मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट में जमकर तोड़फोड़ की। छात्रों का कहना था कि सरकार की नाकामियों के कारण उनका भविष्य अधर में फंसा है। मामले पर मध्य प्रदेश NSUI की मेडिकल विंग ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि छात्रों का भविष्य अंधेरे में डाल सारंग ब्यूटीपार्लर में अपना चेहरा चमका रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक पैरामेडिकल के छात्रों ने साल 2019 में मध्यप्रदेश मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी, जबलपुर में दाखिला लिया था। अगले साल यानी साल 2020 में कोरोना के चलते उनकी परीक्षा नहीं ली गई वे फर्स्ट ईयर में ही रह गए। विभाग ने न तो उन्हें जनरल प्रोमोशन दिया और न ही ऑनलाइन माध्यमों से इम्तिहान लेने की कोई पहल हुई। इस साल भी नवंबर खत्म होने को है लेकिन उनकी परीक्षाएं नहीं हो पाई है। ऐसे में वे तीसरे साल भी फर्स्ट ईयर में हैं, जबकि कायदे से उन्हें थर्ड ईयर में होना चाहिए था। 

छात्र लगातार जनरल प्रोमोशन अथवा आंतरिक परीक्षा के अंकों के आधार पर प्रोमोट करने की मांग कर रहे थे, लेकिन विभाग ने छात्रों को प्रोमोशन देने से मना कर दिया। छात्रों के सब्र का बांध जब टूटा तो प्रदेशभर से छात्रों ने राजधानी भोपाल कूच करने का निर्णय लिया। छात्र यहां मेडिकल एजुकेशन विभाग में घुस गए और नारेबाजी करते हुए जमकर तोड़फोड़ की। छात्रों का आक्रोश देख स्टाफ भी वहां से किनारे हो चले।

यह भी पढ़ें: जिसमें ताकत हो मेरे घुटने तोड़े, घर में घुसकर रामधुन करूंगा, दिग्विजय सिंह ने BJP MLA को दी खुली चुनौती

बता दें कि आर्युविज्ञान मेडिकल यूनिवर्सिटी जबलपुर के नर्सिंग के छात्र भी इसी मांग को लेकर कई महीनों से आंदोलन कर रहे थे। बाद में छात्रों की अपील पर मध्य प्रदेश एनएसयूआई की मेडिकल विंग ने जबलपुर हाईकोर्ट का रुख किया था। हाईकोर्ट ने इस पर संज्ञान लेते हुए न केवल विभाग को फटकार लगाई बल्कि नर्सिंग छात्रों को जनरल प्रोमोशन देने का भी आदेश जारी किया। हाईकोर्ट के आदेश के बाद करीब 20 हजार नर्सिंग छात्रों को प्रोमोट किया गया। 

ब्यूटीपार्लर से बाहर निकलें विश्वास सारंग: NSUI

मामले पर मध्य प्रदेश एनएसयूआई मेडिकल विंग के समन्यवक रवि परमार ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग को निशाने पर लिया है। परमार ने कहा, 'प्रदेश के हजारों छात्रों के भविष्य को अंधकार में डाल चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ब्यूटीपार्लर में अपना चेहरा चमका रहे हैं। सारंग ब्यूटीपार्लर छोड़ बाहर निकलें। उन्हें चेहरा चमकाने के लिए मंत्री नहीं बनाया गया है। यदि विभाग नहीं संभल रहा है तो इस्तीफा दे दें और फिर इत्मीनान से चेहरा चमकाते रहें। यदि वे छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करेंगे तो छात्र शक्ति उनके चेहरे पर कालिख पोतेगी।'