कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर पर तिरंगे से ऊपर रखा गया भाजपा का झंडा, सोशल मीडिया पर बीजेपी का विरोध शुरू

कल्याण सिंह का पार्थिव शरीर इस समय लखनऊ स्थित बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में रखा गया है, पार्थिव शरीर की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही हैं, जिसने एक नए विवाद को जन्म दे दिया है

Updated: Aug 22, 2021, 07:45 PM IST

कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर पर तिरंगे से ऊपर रखा गया भाजपा का झंडा, सोशल मीडिया पर बीजेपी का विरोध शुरू
Photo Courtesy: Social media

भोपाल। बीजेपी के दिवंगत नेता कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर की एक तस्वीर पर विवाद खड़ा हो गया है।दावा किया जा रहा है कि कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर पर बीजेपी का झंडा तिरंगे झंडे के ऊपर रखा गया है। खास बात यह कि पार्थिव शरीर पर तिरंगा झंडा के ऊपर भाजपा का झंडा खुद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा रखे जाने का भी दावा है। वायरल हो रही तस्वीरों के जरिए यह भी दावा किया जा रहा है, जिस समय यह घटनाक्रम हुआ उस समय खुद प्रधानमंत्री मोदी भी वहां मौजूद थे।

कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है। सोशल मीडिया पर लोग इस तस्वीर को लेकर बहस कर रहे हैं। तस्वीर को लेकर बीजेपी का जमकर विरोध भी हो रहा है। 

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने भी इस तस्वीर को लेकर अपनी आपत्ति ज़ाहिर की है। कांग्रेस ने कहा है कि फिर तिरंगे के ऊपर बीजेपी का झंडा,जो सरकार अपने राष्ट्रीय ध्वज का सम्मान नहीं कर सकती, वो सरकार अक्षम और अक्षम्य है। वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव ने भी तिरंगे के ऊपर बीजेपी के झंडे को रखे जाने के संबंध में कड़ा विरोध किया है। 

अरुण यादव ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, 'स्व. कल्याण सिंह जी के निधन पर विनम्र श्रद्धाजंलि।क्या भाजपा का झंडा, तिरंगे से भी ऊपर हो सकता है ?अभी स्वतंत्रता दिवस पर आगर एवं भोपाल में इस तरह की घटना सामने आ चुकी है ।यह भाजपा की सोच को दर्शाता है।' 

यह भी पढ़ें : तिरंगा झंडा से ऊपर अपना झंडा फहरा रही है बीजेपी, बीजेपी कार्यालय पर दिखा विवादित दृश्य

दरअसल इस तरह का विवाद पहली बार नहीं हुआ है। स्वाधीनता दिवस के अवसर पर भी भोपाल में बीजेपी के प्रदेश कार्यालय और आगर मालवा के ज़िला कार्यालय में बीजेपी का झंडा तिरंगे झंडे के ऊपर फहराया गया था। जिसके बाद इस कृत्य का तब भी कड़ा विरोध हुआ था। कानून के मुताबिक भी तिरंगे झंडे के बराबर या उससे ऊपर किसी दूसरे झंडे को नहीं रखा जा सकता।