बीजेपी विधायक का अपनी ही पार्टी की सरकार पर निशाना, सीएम शिवराज को कहा वर्चुअल मीटिंग के तमाशे से कुछ नहीं होने वाला

भोपाल के हुजूर विधायक ने कलेक्टर को पत्र लिख कर बैरागढ़ सिविल अस्पताल में कोरोना मरीजों का उपचार नही होने पर नाराज़गी जताई थी। 11 मई से अस्पताल पर धरने की बात कही है।

Updated: May 01, 2021, 02:04 PM IST

बीजेपी विधायक का अपनी ही पार्टी की सरकार पर निशाना, सीएम शिवराज को कहा वर्चुअल मीटिंग के तमाशे से कुछ नहीं होने वाला
Photo courtesy: bhaskar

भोपाल। मैहर से बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने अपनी ही सरकार पर हमला बोला है। साथ ही सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं। विधायक ने कोरोना महामारी को लेकर सरकार को नसीहत दी है। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखा है। इसमें कहा है कि वर्चुअल मीटिंग के तमाशे से कुछ होने वाला नहीं है। लोगों के लिए दवाई, वेंटिलेटर, बेड और आक्सीजन की व्यवस्था की जाए। अस्पतालों की हालत यह है कि डॉक्टरों व पैरामेडिकल स्टाफ के लिए पीपीई किट का इंतजाम तक नहीं है।

बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में बताया कि विंध्य में कोरोना से बुरा हाल है। विंध्य ही नही बल्कि समूचा मध्यप्रदेश का हाल बेहाल हुआ है। मरीज़ को सतना से रीवा रेफर करने के लिए कोई सुविधा नही है। कोरोना संक्रमित मरीजों को रीवा से जबलपुर ले जाने के लिए कोई सुविधा नही है। 
रीवा व सतना में सभी बेंटिलेटर खराब पड़े हैं। विंध्य की जनता सरकार की गलत नीतियों के कारण असमय जान गवा रही है।


विधायक नारायण त्रिपाठी ने सीएम शिवराज से अपील की है। उन्होंने कहा काेरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए एक माह के लिए टोटल लॉकडाउन कर दिया जाए। इस दौरान कोरोना टेस्टिंग, जांच और वैक्सीनेशन का काम घर-घर स्वास्थ्य कर्मियों को भेजकर कराया जाए ताकि प्रदेश के लोगों की जान बचाई जा सके।


गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर कल भोपाल के हुजूर  विधायक ने भी कलेक्टर को पत्र लिखकर बैरागढ़ सिविल अस्पताल में कोरोना मरीजों का उपचार नहीं होने पर नाराजगी जताई थी। उन्होंने 10 मई तक व्यवस्था न होने पर 11 मई को सिविल अस्पताल में धरना देने की बात कही है। प्रदेश भर में कोरोना संक्रमण बढ़ता जा रहा है। बढ़ते कोरोना की चेन तोडने के लिए सरकार सोशल डिस्टेंसीन और मास्क पहनने की आम जनता से अपील कर रही है।