छतरपुर पुलिस ने किया मानव तस्कर गिरोह का भंडाफोड़, एक महिला समेत 8 आरोपी गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ की आदिवासी युवती को 6 बार बेचने वाले गिरोह को मध्य प्रदेश के छतरपुर की पुलिस ने गिरफ्तार किया, पीड़ित युवती ने दिसंबर में ख़ुदकुशी कर ली थी

Updated: Feb 08, 2021, 01:13 PM IST

छतरपुर पुलिस ने किया मानव तस्कर गिरोह का भंडाफोड़, एक महिला समेत 8 आरोपी गिरफ्तार
Photo courtesy: etv bharat

भोपाल। छतरपुर पुलिस ने मानव तस्करी गिरोह का खुलासा किया है। पुलिस ने एक महिला समेत 8 आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के सूजी बहार गांव की एक आदिवासी युवती को अलग-अलग लोगों को 6 बार बेचा गया। इस दौरान कई बार उसका शारीरिक शोषण भी हुआ। जब युवती को पता चला कि उसे सातवीं बार बेचने की कोशिश की जा रही है, तो उसने तंग आकर खुदकुशी कर ली। युवती के पिता की शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई की है।

दरअसल मध्यप्रदेश के छतरपुर निवासी एक दंपति पर छत्तीसगढ़ के जशपुर से इस युवती को किडनैप करने का आरोप है। आरोप है कि युवती को छोड़ने के लिए उसके घर वालों से फिरौती मांगी गई। जब गरीब आदिवासी अपनी बेटी को बचाने के लिए पैसे नहीं दे पाए, तो युवती को मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में 6 बार बेचा गया। इस दंपति ने युवती को अलग-अलग लोगों को 20 हजार से लेकर 70 हजार तक में बेचा। इस दौरान एक बुजुर्ग आदमी से उसकी शादी भी करवाई गई। जब युवती को पता चला कि आरोपी उसे सातवीं बार बेचने की फिराक में हैं, तो उसने दिसंबर में आत्महत्या कर ली।

छतरपुर पुलिस ने युवती के पिता की शिकायत पर छतरपुर के गढ़ीमलहरा की निवासी बीनू को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि  बीनू उर्फ अजय राय कई फर्जी नामों से काम करता था। पुलिस ने उत्तरप्रदेश के ललितपुर और मध्यप्रदेश के सागर और छतरपुर जिलों के गांवों से युवती को खरीदने वालों को भी गिरफ्तार किया है।

छतरपुर पुलिस का कहना है कि छत्तीसगढ़ के जशपुर से युवती को 7 माह पहले अगवा किया था। जब उसके  परिजनों ने उसे खोजा तो वह नहीं मिली। पिता ने पुलिस में अपहरण का केस दर्ज करवाया। परिजनों को पता चला कि युवती मध्यप्रदेश के छतरपुर में किसी अजय राय ऊर्फ बीनू के पास है। इस दौरान अजय और उसकी पत्नी ने युवती के पिता से पैसों की मांग की।

तब पिता ने पूरी कहानी एक बार फिर पुलिस को बताई। जिसके बाद छत्तीसगढ़ पुलिस ने युवती की तलाश शुरू की। मध्य प्रदेश औऱ छत्तीसगढ़ की पुलिस ने मिलकर मामले की जांच की जिसके बाद मुख्य आरोपी अजय राय पकड़ा गया। उससे पुलिस की पूछताछ में कई बड़े खुलासे हुए हैं। अजय की निशानदेही पर पुलिस सभी आरोपियों को पकड़ने में कामयाब हुई। आरोपियों को छत्तीसगढ़ पुलिस को सौंप दिया गया है। सरकार के प्रयासों के बाद भी देश से मानव तस्करी के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। जिसकी वजह ने ना जाने कितनी मासूम युवतियों के साथ ज्यादती हो रही है, कई बार तो उन्हें अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ रहा है।