खतरा दिखाकर लोगों में डर पैदा करता है संघ, अपराध में पकड़ाए जाने पर कार्यकर्ताओं से झाड़ लेता है पल्ला: दिग्विजय सिंह

इंदौर में युवा कांग्रेस के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह राष्ट्रीय स्वयंसेवक की विचारधारा और उसकी करस्तानियों पर जमकर वार किए, उन्होंने कहा कि जैसे घर में दीमक लगती है, आरएसएस भी कुछ इसी तर्ज पर काम करता है

Updated: Jan 11, 2022, 09:27 AM IST

खतरा दिखाकर लोगों में डर पैदा करता है संघ, अपराध में पकड़ाए जाने पर कार्यकर्ताओं से झाड़ लेता है पल्ला: दिग्विजय सिंह

इंदौर। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक की विचारधारा और उसकी करस्तानियों पर जमकर हमला बोला है। राज्यसभा सांसद ने कहा कि संघ लोगों में झूठा खतरा दिखाकर डर पैदा करता है। उन्होंने कहा कि जैसे घर में दीमक लग जाती है, संघ भी इसी तर्ज पर काम करता है। 

कांग्रेस नेता ने यह बातें सोमवार को इंदौर में युवा कांग्रेस के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही। दिग्विजय सिंह ने कहा कि संघ एक रजिस्टर्ड संस्था नहीं है। इसलिए जब भी कोई संघ का कार्यकर्ता आपराधिक गतिविधियों में पकड़ता है, तो संघ उससे सीधे पल्ला झाड़ लेता है। वे लोग अपराधी को अपना कार्यकर्ता मानने से इनकार कर देते हैं। नाथूराम गोडसे के भाई गोपाल गोडसे का नाता भी संघ से ही था। 

दिग्विजय सिंह ने कहा कि लड़ाई ऐसे संघटन से है, जो कि ऊपर से नहीं दिखता। जैसे घर में दीमक लग जाती है, संघ में कुछ इसी तरह से काम करता है। कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि आरएसएस की विचारधारा नफरत पर टिकी हुई है। विश्व भर में एक विशेष वर्ग है जो कि अपनी फासीवादी विचारधारा के बलबूते अपने संगठन को मजबूत करना चाहता है। 

यह भी देखें : कमलनाथ ने क्यों दिया दो माह का अल्टीमेटम

राज्यसभा सांसद ने कहा कि इन लोगों का संविधान में विश्वास नहीं होता, ये लोग प्रगतिशील विचार के खिलाफ खड़े होते हैं। महिला विरोधी होते हैं। दिग्विजय सिंह ने कहा कि कभी आरएसएस ने एक संगठन के रूप में धरना दिया है? आंदोलन किया है? आम लोगों की, मजदूरों की लड़ाई लड़ी है? कांग्रेस नेता ने कहा कि ये लोग सिर्फ देश के लोगों को धर्म के नाम पर गुमराह कर अपना चंदा उगाहते हैं। इंदौर में जितना धर्म के नाम पर चंदा लिया जाता है, उतना शायद ही देश के किसी दूसरे शहर में लिया जाता है।