ग्वालियर में रात्रि गश्त पर निकले IPS के साथ दुर्व्यवहार, 10 मेडिकल स्टूडेंट्स के खिलाफ FIR दर्ज

ग्वालियर में नशे में धुत कुछ मेडिकल छात्रों ने सीएसपी ऋषिकेश मीना के साथ अभद्रता की। मामला सामने आने के बाद जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने दो मेडिकल हॉस्टल में दबिश दी और चार छात्रों को हिरासत में लिया।

Updated: Sep 15, 2022, 10:15 AM IST

ग्वालियर में रात्रि गश्त पर निकले IPS के साथ दुर्व्यवहार, 10 मेडिकल स्टूडेंट्स के खिलाफ FIR दर्ज

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में मंगलवार देर रात शराब के नशे में धुत कुछ मेडिकल छात्रों ने IPS अधिकारी के साथ अभद्रता की। मामला सामने आने के बाद जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने दो मेडिकल हॉस्टल में दबिश दी और चार छात्रों को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने इस मामले में कुल 10 छात्रों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में FIR दर्ज किया है।

दरअसल मंगलवार देर रात सीएसपी ऋषिकेश मीना गश्त पर थे। रात के करीब दो बजे वे झांसी रोड थाना अंतर्गत कटोरा ताल रोड स्थित गजरा राजा मेडिकल कॉलेज के पास से गुजर रहे थे। तभी उन्हें कार में सवार कुछ मेडिकल कॉलेज के छात्र शराब के नशे में धुत मिले। उन्होंने गाड़ी रोककर पूछताछ की तो मेडिकल छात्रों ने उन्हें घेर लिया और उनकी गाड़ी की चाबी निकाल ली। इतना ही नहीं छात्रों ने उनका मोबाइल छीन कर भी नाले में फेंक दिया। साथ ही उनका वाहन भी पंचर कर दिया। 

यह भी पढ़ें: MP के शासकीय अस्पताल की शर्मनाक तस्वीर, फर्श पर बैठाकर बच्ची को चढ़ाया खून, मां को पकड़ा दी थैली

सीएसपी ने कन्ट्रोल रूम को इस बात सूचना दी। सूचना मिलते ही ग्वालियर एसपी अमित सांघी सहित पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दो मेडिकल हॉस्टल में दबिश दी और चार छात्रों को हिरासत में लिया। जिन हॉस्टल में दबिश दी उनमें रविशंकर हॉस्टल और सीनियर बॉयज हॉस्टल शामिल हैं। दबिश के बाद सभी हॉस्टल छात्रों को एकत्र कर पुलिस अधिकारियों ने समझाइश दी और घटनाक्रम में शामिल छात्रों को अपना गुनाह कबूल कर सामने आने को कहा।

पुलिस ने मेडिकल कॉलेज के डीन डॉक्टर अक्षय निगम, ज्यारोग अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर आर के एस धाकड़ को भी हॉस्टल में बुलवा लिया। पुलिस अधिकारियों ने मेडिकल कॉलेज प्रशासन के समक्ष नाराजगी जताते कहा कि आरोपी छात्रों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने 10 मेडिकल छात्रों को नामजद किया है। आरोपियों के विरुद्ध IPC की धारा 353, 147, 148, 294 तथा 336 के तहत झांसी रोड थाना पुलिस ने FIR दर्ज की है।

मामले में गजरा राजा मेडिकल कॉलेज प्रशासन भी हरकत में आ गया है। कॉलेज प्रशासन ने जूडा को पत्र लिखकर छात्रों के करतूतों की वजह जाननी चाही है। कॉलेज के डीन ने यह पत्र जूडा के अध्यक्ष डॉक्टर हिमांशु गौर, सचिव डॉक्टर अदिति मित्तल सहित सभी सीआर को भेजा है। पत्र के माध्यम से बीती रात हुई घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए डीन ने जूडा को बैठक आयोजित कर ऐसी घटनाओं की वजह जाननी चाही है क‍ि आखिर क्यों और कैसे ऐसी घटनाएं होती हैं? साथ ही सुझाव भी मांगे हैं कि इन घटनाओं को कैसे रोका जा सके।