जबलपुर एयरपोर्ट पर चले लात घूसे, इंडिगो के कर्मचारियों से भिड़े बीजेपी के नेता

मौका जबलपुर से शुरू हो रही नई उड़ान सेवाओं के शुभारंभ का था, इंडिगो द्वारा आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीजेपी नेताओं और इंडिगो की पीआर एजेंसी के कर्मचारियों के बीच विवाद हो गया, विवाद इतना बढ़ गया कि एयरपोर्ट जमकर लात घूसों की भी शुरुआत हो गई

Updated: Aug 20, 2021, 12:39 PM IST

जबलपुर एयरपोर्ट पर चले लात घूसे, इंडिगो के कर्मचारियों से भिड़े बीजेपी के नेता

जबलपुर। डुमना एयरपोर्ट पर इंडिगो एयरलाइंस की पीआर एजेंसी के कर्मचारी और बीजेपी के नेताओं के बीच विवाद हो गया। एक तरफ केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और सीएम शिवराज नई उड़ान सेवाओं की वर्चुअल शुरुआत करते रहे, दूसरी तरफ एयरपोर्ट पर इंडिगो के कर्मचारी और बीजेपी नेताओं में जमकर लात घूसों की बरसात होती रही। मौके पर मौजूद पुलिस बल के बीच बचाव के बाद मामला शांत हो पाया। 

दरअसल आज से जबलपुर से दिल्ली और मुंबई के लिए नई उड़ानों की शुरुआत हुई है। 28 अगस्त से हैदराबाद के लिए भी उड़ान की शुरुआत होनी है। इन्हीं उड़ानों की शुरुआत होने के अवसर पर आज डुमना एयरपोर्ट पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई थी। इंडिगो की पीआर एजेंसी ने मीडिया के साथ साथ बीजेपी के नेताओं को भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था। 

लेकिन जब बीजेपी के नगर अध्यक्ष जेएस ठाकुर और नगर उपाध्यक्ष जय सचदेवा वहां पहुंचे तब एयरपोर्ट पर पर्याप्त व्यवस्था नहीं थी। बैठने के लिए कुर्सियों का प्रबंध नहीं था। इसके बाद बीजेपी नेताओं और इंडिगो एयरलाइंस की पीआर एजेंसी के कर्मचारियों के बीच जमकर तू-तू, मैं-मैं शुरू हो गई। जल्द ही यह विवाद बढ़ता चला गया और लात घूसों की बरसात शुरू हो गई। विवाद का यह वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया है। 

दूसरी तरफ ज्योतिरादित्य सिंधिया और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नई उड़ान सेवाओं का शुभारंभ किया। वर्चुअल समारोह से जुड़े सीएम ने केंद्रीय मंत्री सिंधिया से जबलपुर एयरपोर्ट का नाम बदलने की अपील की। सीएम ने कहा कि मध्य प्रदेश के नागरिकों की ओर से सिंधिया जी से अनुरोध है कि जबलपुर एयरपोर्ट का नाम रानी दुर्गावती के नाम पर हो जाए। सीएम ने कहा कि यह महाकौशल की भावना है। अगर एयरपोर्ट का नाम रानी दुर्गावती के नाम पर रखा जाता है तो यह जनभावनाओं का आदर होगा।