सब्जियों की कीमतें आसमान पर, टमाटर हुआ लाल, 80 रुपए तक पहुंचा भाव, तीखी हुई हरी मिर्च

राजधानी भोपाल में पिछले तीन दिनों में टमाटर के भाव 30 से 50 रुपए तक बढ़े हैं, हरी मिर्च और शिमला मिर्च भी 80 रुपए किलो बिक रहे हैं, सब्जियों के भाव बढ़ने से रहवासियों का बजट बिगड़ गया है

Updated: May 23, 2022, 07:17 PM IST

सब्जियों की कीमतें आसमान पर, टमाटर हुआ लाल, 80 रुपए तक पहुंचा भाव, तीखी हुई हरी मिर्च

भोपाल। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में आई मामूली कमी से जनता को थोड़ी राहत मिली ही थी की अब सब्जियों की कीमतें आसमान छू रही है। सब्जी की कीमतों में अचानक हुई बेतहाशा वृद्धि ने आम लोगों के घर का बजट बिगाड़ दिया है। राजधानी भोपाल में टमाटर की कीमत सुनकर लोग लाल हो जा रहे हैं। टमाटर यहां 60 से 80 रुपए किलो तक बिक रहे हैं।

सब्जी विक्रेताओं ने बताया कि पिछले तीन दिनों में टमाटर के भाव में 30 से 50 रुपए तक की वृद्धि दर्ज की गई है। जो टमाटर पिछले हफ्ते 30 रुपए किलो बिक रहा था वो सोमवार तक 60 से 80 रुपए तक पहुंच गया है। टमाटर की कीमतों में बढ़ोतरी का कारण आवक में कमी को माना जा रहा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक कुछ दिनों से मंडियों में टमाटर की आवक बेतहाशा घटी है। यदि आवक में वृद्धि नहीं होती है तो आने वाले समय में टमाटर और महंगा हो सकता है।

टमाटर के अलावा अन्य सब्जियां भी महंगी हुई है। हरी मिर्च और शिमला मिर्च के भाव भी 80 रुपए किलो तक पहुंच गए हैं। हरी सब्जियों में पत्ता गोभी 40, करेला 60, पालक 40, लौकी 40 और बैंगन 40 रुपए किलो बिक रही है। नींबू के दाम में जरूर पहले के मुकाबले कुछ कमी आई है। नींबू जो पिछले महीने 10 से पंद्रह रुपए में एक मिल रहा था वो अब 10 रुपए में तीन मिल रहा है।

टमाटर की कीमतें बढ़ने की वजह से यह घरों के किचन से गायब होने लगा है। लोग सब्जियों में टमाटर का उतना ही इस्तेमाल कर रहे हैं, जितने से किसी तरह काम चल जाए। राजधानी के गौतम नगर मार्केट में सब्जी खरीद रहे लोगों ने बताया कि मिर्च के दाम में बढ़ोतरी के कारण दुकानदार अब हरी सब्जी के साथ मुफ्त में मिर्च नहीं दे रहे हैं। 

बता दें कि देश में पिछले महीने यानी अप्रैल में खुदरा महंगाई दर 8 साल के उच्चतम स्तर 7.79 फीसदी पर पहुंच गई थी। खुदरा महंगाई के आंकड़ों में यह बढ़ोतरी खाने-पीने की चीजों के अलावा ईंधन की बढ़ती कीमतों के चलते हुई।