BJYM नेता की बदजुबानी, युवाओं को थाना फोड़ने के लिए उकसाया, यूथ कांग्रेस ने बताया मवालियों की फौज

मंच से युवाओं को संबोधित करते हुए धार के भाजयुमो जिलाध्यक्ष ने कहा कि यदि भाजपा नेता कहें कि थाना फोड़ दो तो जाकर फोड़ दो, यूथ कांग्रेस ने कहा है कि भाजयुमो में गुंडे-मवालियों की फौज तैयार की जा रही है

Updated: Dec 18, 2021, 08:52 AM IST

BJYM नेता की बदजुबानी, युवाओं को थाना फोड़ने के लिए उकसाया, यूथ कांग्रेस ने बताया मवालियों की फौज

धार। भारतीय जनता युवा मोर्चा धार के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष अपने भड़काऊ भाषण के लिए सुर्खियों में है। भाजयुमो अध्यक्ष जय सूर्या ने युवाओं को उकसाते हुए कहा है कि यदि भाजपा पदाधिकारी थाना फोड़ने को कहते हैं तो फोड़ दो। खास बात यह है कि भाजयुमो नेता ये भड़काऊ बातें वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी की कह रहे थे। मामले पर यूथ कांग्रेस ने कहा है कि भाजयुमों में गुंडे-मवालियों की फौज को भर्ती किया जा रहा है।

दरअसल, गुरुवार को धार भाजयुमो के नए नवेले जिलाध्यक्ष जय सूर्या के लिए धरमपुरी में स्वागत समारोह का आयोजन किया गया था। इस समारोह में भाषण देते हुए सूर्या इतने उत्साहित हो गए कि उन्होंने युवाओं को थाना फोड़ने तक के लिए उकसाने से गुरेज नहीं किया। सूर्या ने यहां लोगों को संबोधित करते हुए पहले पूछा की युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं का काम क्या है? 

उन्होंने आगे कहा, 'सुन लीजिए भाजपा के पदाधिकारी जो भी आदेश दें वह युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं को मानना होगा। फिर चाहे वह मंच पर आकर भाषण देने को कहें या फिर पार्टी का झंडा लगाने को बोलें या दरी बिछाने का काम हो हमें करना होगा। वे अगर थाना फोड़ने को कह दें तो जाकर थाना फोड़ दो। चाहे बाद में वे बचाने आएं या नहीं वो बाद का विषय है।' सूर्या जब इस तरह की उकसाऊ भाषण दे रहे थे तो मंच पर मौजूद सभी दिग्गज नेताओं सहित नीचे बैठे कार्यकर्ता जमकर तालियां बजा रहे थे।'

यह भी पढ़ें: अछूत बता कर वाल्मीकि समाज को मैरिज गार्डन देने से इनकार, पीड़ितों ने धर्म परिवर्तन की दी चेतावनी

भाजयुमो नेता के इस बयान पर विपक्षी दल कांग्रेस के युवा संगठन ने तीखा हमला बोला है। एमपी यूथ कांग्रेस के मीडिया प्रभारी विवेक त्रिपाठी ने कहा, 'भाजयुमों में गुंडे मवालियों की नई फौज को शामिल किया गया है। शिष्टाचार की बातें जब इनके बड़े नेता नहीं करें तो इनसे क्या उम्मीद रखें। बदजुबानी इस संगठन किप अनुवांशिक गुण है। ये नफरती और दंगाई लोग दंगा फसाद की ही बात कर सकते हैं। हम गांधी के सत्याग्रह में विश्वास रखते हैं और इस सत्याग्रह की ताकत है कि इन दंगाइयों से हम डरते नहीं बल्कि उनका मुकाबला करते हैं और समय-समय पर इन्हें मुंह की खानी पड़ती है।'