महेश पटेल 6 साल के लिए कांग्रेस से निष्कासित, भूरिया के काफिले पर हमले को लेकर हुई कार्रवाई

अलीराजपुर जिले के जोबट से कांग्रेस उम्मीदवार रहे महेश पटेल को कांग्रेस पार्टी ने 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है, पार्टी ने यह कार्रवाई पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया और यूथ कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया के काफिले पर हमले के बाद की है

Updated: Mar 18, 2022, 10:47 AM IST

महेश पटेल 6 साल के लिए कांग्रेस से निष्कासित, भूरिया के काफिले पर हमले को लेकर हुई कार्रवाई

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने अलीराजपुर जिले के जोबट विधानसभा से पार्टी उम्मीदवार रहे महेश पटेल के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है। शीर्ष नेतृत्व ने पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष पटेल को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। कांग्रेस ने यह कार्रवाई होलिका दहन के दिन जोबट में पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया और यूथ कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया के काफिले पर हुए हमले को लेकर किया है।

दरअसल, गुरुवार दोपहर कांतिलाल भूरिया और विक्रांत भूरिया जोबट में जब भगोरिया उत्सव से वापस लौट रहे थे तब दर्जनों की संख्या में हमलावरों ने उन्हें चारों तरफ से घेरकर हमला कर दिया। इस दौरान उनके काफिले में शामिल दो वाहन बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए वहीं भूरिया का ड्राइवर भी गंभीर रूप से घायल हो गया। इस दौरान भूरिया के समर्थकों ने एक आरोपी को धर दबोचा और उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

यह भी पढ़ें: जोबट में पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के काफिले पर हमला, यूथ कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया को भी बनाया निशाना

हैरानी की बात ये है कि हमलावर कांग्रेस के नेता महेश पटेल के समर्थक निकले। मामले में महेश पटेल की संलिप्तता तब उजागर हुई जब वे स्वयं ही थाने में भूरिया परिवार के खिलाफ शिकायत करने आ गए। पुलिस ने भी पटेल समर्थकों का अपहरण करने के आरोप में भूरिया पिता-पुत्र के खिलाफ नामजद FIR दर्ज कर ली। जबकि पूर्व केंद्रीय मंत्री पर हुए हमले के बावजूद एफआईआर करने में आनाकानी करती रही है। महेश पटेल की संदिग्ध गतिविधियों के चलते कांग्रेस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए उन्हें निष्कासित कर दिया।

इस पूरे घटनाक्रम को लेकर कांतिलाल भूरिया के बेटे व मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा कि, 'साथियों, न हम कभी किसी से डरें हैं और न कभी डरेंगे। मैं और श्री कांतिलाल भूरिया जी बिल्कुल ठीक हैं और सुरक्षित हैं। इन छोटे मोटे हमलो से हम डरते नही बल्कि मज़बूत होते हैं क्योंकि इससे साबित होता है कि हम सही राह पर हैं और हमारी अन्याय और शोषकों के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी। ऐसे हमले पर भी एक खरोच तक नहीं आई। किसी ने सही कहा है ..."जाको राखे साईंया, मार सके ना कोय...चाहे जग बैरी होये, पर बाल भी बांका न होय"।