पंचायत-निकाय चुनावों को लेकर निर्वाचन आयोग सख्त, 12 एएसपी और 56 डीएसपी बदलने के निर्देश

एक पद पर तीन साल से जमे और निकाय-पंचायत चुनाव में सीधे तौर से जुड़े एसपी, एडीशनल एसपी और डीएसपी जल्द हटाए जाएंगे

Updated: Jun 04, 2022, 11:38 AM IST

पंचायत-निकाय चुनावों को लेकर निर्वाचन आयोग सख्त, 12 एएसपी और 56 डीएसपी बदलने के निर्देश

भोपाल। मध्य प्रदेश में पंचायत और निकाय चुनाव की तैयारियां जोरों पर है। इसी बीच निर्वाचन आयोग ने कई प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले का निर्देश दिया है। दरअसल, एक पद पर तीन साल से जमे और निकाय-पंचायत चुनाव में सीधे तौर से जुड़े एसपी, एडीशनल एसपी और डीएसपी जल्द हटाए जाएंगे। इसकी सूची तैयार है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक हटाए जाने वालों में 12 एएसपी व 56 डीएसपी शामिल हैं। राजगढ़ एसपी प्रदीप शर्मा हटाए जाएंगे वहीं शिवपुरी और धार के एसपी एक दिन से बच जाएंगे। राजगढ़ एसपी प्रदीप शर्मा की पदस्थापना 23 फरवरी 2019 को हुई थी, यानी इस पद पर शर्मा को 3 साल 3 माह से अधिक हो चुके हैं। राज्य निर्वाचन आयोग ने तीन साल से जमे अफसरों को हटाने के लिए 31 मई 2022 की कटऑफ तारीख रखी है। ऐसे में इनका तबादला किया जाएगा।

उधर 2010 बैच के आईपीएस अधिकारी व शिवपुरी एसपी राजेश सिंह और 2011 बैच के धार एसपी आदित्य प्रताप सिंह 1 जून 2019 को पदस्थ हुए थे। गाइड लाइन के हिसाब से इनके तीन साल पूरे होने में एक दिन कम होंगे। लिहाजा दोनों बच सकते हैं। निकाय चुनावों को लेकर निर्वाचन आयोग ने खासतौर पर राजस्व और नगरीय विकास विभाग में तीन साल से जमे अधिकारियों को हटाने का निर्देश दिया है। इसकी कवायद शुरू हो गई है। 

चुनाव आयोग की ओर से विभाग को पत्र गया है कि नगरीय विकास विभाग में डिप्टी कमिश्नर, एडीशनल कमिश्नर, नगर निगम कमिश्नर और सीएमओ को हटाया जाना है। राजस्व में पटवारी, राजस्व निरीक्षक शामिल हैं। जीएडी में एडीशनल कलेक्टर और डिप्टी कलेक्टर के साथ तहसीलदार शामिल हैं।