भोपाल बाढ़ में बहा घर, मुआवजा न मिलने पर की आत्महत्या

Suicide in Bhopal: भोपाल के कोलार निवासी पेंटर कमलेश प्रजापति का घर बाढ़ में बहा, सरकार की ओर से नहीं मिली आर्थिक सहायता

Updated: Sep 05, 2020 06:33 PM IST

भोपाल बाढ़ में बहा घर, मुआवजा न मिलने पर की आत्महत्या
Photo Courtesy: Dainik Bhaskar

 भोपाल। भोपाल के कोलार क्षेत्र में रहने वाले एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली है। आत्महत्या करने वाले व्यक्ति का नाम कमलेश प्रजापति बताया जा रहा है। कमलेश के आत्महत्या करने के पीछे सबसे प्रमुख कारण बाढ़ की वजह से घर का बह जाना बताया जा रहा है।  

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार शाम को कमलेश के भाई दिनेश ने जब उसे फोन किया तो उसने नहीं उठाया। इसके बाद कमलेश के भाई ने उसके पडोसी को फोन लगा कर  अपने भाई से बात कराने के लिए कहा। पडोसी जब कमलेश के घर पहुंचे तब उन्होंने कमलेश के शव को फांसी के फंदे से झुलते हुए देखा। 32 वर्षीय कमलेश पेशे से पेंटर थे। सात महीने पहले ही कमलेश की बीवी उन्हें छोडकर मायके चली गई थी। कमलेश इस वजह से पहले से ही काफी परेशान चल रहे थे कि बाढ़ के कारण घर के बाह जाने से वे और भी ज़्यादा तनाव के शिकार हो गए।  

राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने चेताया था 

मध्यप्रदेश में भारी वर्षा की वजह से राजधानी कोलार क्षेत्र की बस्ती में रहने वाले गरीब व्यक्तियों का काफी नुकसान हुआ है। हाल ही में एक दीवार गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। बाढ़ के कारण कई लोगों के घर या तो बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं अथवा बाह गए हैं। लेकिन राज्य सरकार ने अब तक कोई आर्थिक सहायता इन गरीबों पर नहीं पहुंचाई है।  

राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने बीते दिनों कोलार क्षेत्र में बाढ़ प्रभावित लोगों से मुलाक़ात की थी। वहां के हालात देख कर दिग्विजय सिंह ने राज्य सरकार द्वारा पीड़ित परिवारों को मुआवज़ा देने की मांग की थी। लेकिन राज्य सरकार के बाढ़ प्रभावित लोगों के उदासीन रवैए के कारण एक युवक का जीवन खत्म हो गया।