उपचुनावों को लेकर असमंजस में फंसी बीजेपी, बैठकों का दौर जारी

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा बंद कमरे में कर रहे हैं चर्चा, उम्मीदवारों के नाम तय करने में आ रही है दिक्कत

Publish: Oct 02, 2021, 09:22 AM IST

उपचुनावों को लेकर असमंजस में फंसी बीजेपी, बैठकों का दौर जारी

भोपाल। मध्य प्रदेश में होने वाले उपचुनाव अब सिर पर हैं। जैसे जैसे चुनावों की तारीख आती जा रही है, वैसे वैसे भी में टिकट को लेकर मारामारी भी बढ़ रही है। दूसरी तरफ प्रदेश आलाकमान भी टिकट बंटवारे को लेकर असमंजस में फंसता हुआ नज़र आ रहा है। आलम यह है कि बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा बंद कमरे में बैठकें कर रहे हैं। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वीडी शर्मा उपचुनाव वाले क्षेत्रों के स्थानीय नेताओं के साथ चर्चा कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने जिला अध्यक्षों, सांसद, विधायकों, महापौर सहित अन्य पदाधिकारियों के साथ बंद कमरे में चर्चा की। 

सबसे ज्यादा पेंच खंडवा सीट को लेकर फंसता हुआ नज़र आ रहा है। इस सीट पर आदिवासी वोटरों की संख्या काफी है। लेकिन आदिवासियों के मन में जिस तरह से मौजूदा सरकार के खिलाफ आक्रोश बढ़ा है, इसलिए इस सीट पर उम्मीदवार तय करने में बीजेपी को सबसे अधिक कठिनाई का सामने करना पड़ सकता है। यही स्थिति जोबट विधानसभा सीट को लेकर भी है। 

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने फिलहाल हर सीट से तीन तीन उम्मीदवारों के नाम मंगवाए हैं। जबकि प्रदेश प्रभारी मुरली धर राव भी तीन अक्टूबर को खंडवा और अलीराजपुर के तीन दिवसीय दौरे पर जाने वाले हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक खंडवा लोकसभा सीट से दिवंगत संसद नंदकुमार सिंह चौहान के बेटे हर्षवर्धन चौहान और अर्चना चिटनिस के नाम दिए गए हैं। इसके साथ ही पूर्व महापौर कृष्णा मुरारी मोघे का नाम भी चल रहा है। जोबट सीट से पूर्व विधायक नागर सिंह चौहान पर बीजेपी दांव खेल सकती है। वहीं रैगांव से दिवंगत बीजेपी नेता जुगल किशोर बागरी को टिकट मिल सकता है। 

मध्य प्रदेश में कुल तीन विधानसभा सीटों और एक खंडवा लोकसभा सीट पर 30 अक्टूबर को उपचुनाव होने हैं। इन सीटों पर नतीजे 2 नवंबर को आएंगे। जिन तीन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं, उनमें जोबट, पृथ्वीपुर और रैगांव की सीट है। जोबट और पृथ्वीपुर पिछले चुनाव में कांग्रेस के खाते में गई थी जबकि रैगांव सीट पर बीजेपी ने जीत दर्ज की थी।