सागर दमोह मार्ग पर ऑक्सीजन से भरा टैंकर पलटा, शुक्र है आक्सीजन सुरक्षित है

झारखंड के बोकारो से भोपाल आ रहा ऑक्सीजन टैंकर पलटा, सागर-दमोह मार्ग स्थित गढ़ाकोटा के पास हुआ हादसा, टैंकर के सामने आ गए थे जानवर, टैंकर को नहीं हुआ नुकसान

Updated: May 17, 2021, 09:23 PM IST

सागर दमोह मार्ग पर ऑक्सीजन से भरा टैंकर पलटा, शुक्र है आक्सीजन सुरक्षित है
Photo courtesy: news 18

सागर। सागर-दमोह मार्ग में गढ़ाकोटा के पास एक ऑक्सीजन भरा टैंकर पलट गया। प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो सड़क पर जानवारों के आ जाने की वजह से ऑक्सीजन भरा टैंकर बेकाबू होकर पलट गया। यह टैंकर ऑक्सीजन लेकर झारखंड के बोकारो से भोपाल आ रहा था। तभी सोमवार को दमोह के चानोआ गांव के नजदीक हादसे का शिकार हो गया। इस टैंकर में 22 टन ऑक्सीजन भरी थी।

शुक्र है कि टैंकर पटलने के बाद भी ऑक्सीजन टैंकर फटा नहीं जिससे ऑक्सीजन को किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ है। किसी तरह की लीकेज नहीं हुई है। नहीं तो बड़ा हादसा, हो सकता था। टैंकर के पलटने की वजह से अब टैंकर भोपाल पहुंचने में कई घंटों की देरी हुई।

सड़क पर ऑक्सीजन टैंकर पलटते ही मार्ग में जाम लग गया। हादसे की खबर लगते ही प्रशासनिक अमला हरकत में आया और कई अफसर मौके पर पहुंचे। बड़ी मशक्कत के बाद टैंकर को खड़ा किया जा सका। ऑक्सीजन टैंकर का वजन ज्यादा होने से काफी परेशानी के बाद टैंकर को खड़ा किया गया।

और पढ़ें: गौ मूत्र पीने से दूर होता है फेफड़ों का इंफेक्शन, मैं लेती हूं इसलिए मुझे नहीं हुआ कोरोना- साध्वी प्रज्ञा

बतादें कि अप्रैल में सीहोर के NH-12 पर भी एक ऐसा ही हादसा हुआ था। जहां 40 टन ऑक्सीजन से भरा कैप्सूल पलट गया था। वह कैप्सूल दिल्ली से गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एस्टेट के लिए भेजा गया था। जिसे भोपाल के बाद अलग-अलग स्थानों में वितरित किया जाना था।   दरअसल देश में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए ऑक्सीजन का उपयोग भारी मात्रा में हो रहा है, देश में ऑक्सीजन की किल्लत है। ऑक्सीजन के लिए हाहाकार मचा हुआ है। बहुत से मरीजों ने अस्पतालों में ऑक्सीजन नहीं मिलने की वजह से दम तोड़ दिया। कई मरीजों की हालत नाजुक है।