संविधान की रक्षा के उद्देश्य के साथ MP कांग्रेस की संदेश यात्रा शुरू, कमलनाथ ने दिखाई हरी झंडी

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने निकाली "मिले कदम- जुड़े वतन, राहुल-कमलनाथ संदेश यात्रा", प्रदेशभर में 1464 किलोमीटर तय करेगी यह यात्रा, चुनाव पूर्व संगठन को मजबूती देने की कवायद

Updated: Jan 19, 2023, 06:09 PM IST

संविधान की रक्षा के उद्देश्य के साथ MP कांग्रेस की संदेश यात्रा शुरू, कमलनाथ ने दिखाई हरी झंडी

भोपाल। चुनावी साल में मध्य प्रदेश कांग्रेस पूरी तरह से सक्रिय हो गई है। पीसीसी चीफ कमलनाथ मैराथन मीटिंग्स कर संगठन को मजबूती देने की कोशिश में हैं। इसी बीच प्रदेश कांग्रेस ने संविधान की रक्षा के उद्देश्य के साथ "मिले कदम - जुड़े वतन, राहुल-कमलनाथ संदेश यात्रा" शुरू की है। पीसीसी चीफ कमलनाथ ने गुरुवार को राजधानी भोपाल से हरी झंडी दिखाकर इस यात्रा को रवाना किया।

जानकारी के मुताबिक राहुल-कमलनाथ की यह संदेश यात्रा प्रदेश में 1464 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। इस यात्रा के जारिए कांग्रेस राज्य सरकार की नाकामियों और पार्टी की विचारधारा को जनता तक पहुंचाएगी। गुरुवार सुबह पीसीसी चीफ कमलनाथ ने श्यामला हिल्स में यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। पिछड़ा वर्ग विभाग के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष पवन कुमार पटेल के नेतृत्व में यह यात्रा निकाली जा रही है।

पीसीसी चीफ ने भोपाल से इस यात्रा को रवाना करते हुए कहा कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के तर्ज पर यह यात्रा निकाली जा रही है। इस यात्रा का उद्देश्य संविधान की रक्षा, देश में बढ़ रही भूखमरी, महंगाई, किसान, बेरोजगारी जैसे जनहित के मुद्दों को उठाना हैै। यात्रा पूरे मध्यप्रदेश में निकाली जाएगी।

यात्रा के इंचार्ज पवन कुमार पटेल ने बताया कि इस यात्रा के दौरान नुक्कड़ सभा, जनसंपर्क, गांधी चौपाल, हाथ से हाथ जोड़ो अभियान, ओबीसी, एससी, एसटी समाज के प्रतिनिधियों के साध संवाद, पदाधिकारियों के साथ बैठक, छात्रावास-अस्पताल में मुलाकात आदि होंगे। 1464 किलोमीटर की ये यात्रा भोपाल से शुरू होकर रायसेन, नरसिंहपुर, दमोह आदि जिलों से होकर संपूर्ण मध्यप्रदेश में जाएगी।

उधर एंटी इनकंबेंसी से जूझ रही बीजेपी ने भी यात्रा निकालने का ऐलान किया है। बीजेपी 1 फरवरी से 15 फरवरी के बीच प्रदेश में विकास यात्रा निकालेगी। हैरानी की बात ये है कि इसकी जिम्मेदारी पार्टी कार्यकर्ताओं के बजाए कलेक्टरों को दी गई है। हर दिन कलेक्टर को ये बताना होगा कि यात्रा कितने किलोमीटर, कितने गांव, कितने वार्ड तक यात्रा पहुंची।

यह भी पढ़ें: चुनाव आयोग को सभी तरह के संदेहों से परे होना चाहिए, दिग्विजय सिंह ने की VVPAT से काउंटिंग की मांग

पीसीसी चीफ कमलनाथ ने भाजपा की यात्रा पर निशाना साधते हुए कहा कि, 'BJP नाटक-नौटंकी करने से बाज नहीं आएगी। ये विकास यात्रा नहीं, फ्रॉड यात्रा है। ये यात्रा लोगों को गुमराह करने, ध्यान मोड़ने के लिए है। प्रशासन के बगैर इनका (BJP) कोई कार्यक्रम नहीं हो सकता। भीड़ प्रशासन की, पैसा प्रशासन का, यात्रा प्रशासन की। सबसे कहेंगे कि इतनी भीड़ लेकर आओ, इतनी बसें लेकर आओ, फिर मीडिया में दिखाएंगे कि इतनी पब्लिक थी, लेकिन ये सब जनता समझ चुकी है।'