चुनाव आयोग को सभी तरह के संदेहों से परे होना चाहिए, दिग्विजय सिंह ने की VVPAT से काउंटिंग की मांग

कांग्रेस की तरफ़ से इवीएम को लेकर बनायी गयी कमेटी को लीड कर रहे सांसद दिग्विजय सिंह ने ECI को सुझाव दिया कि VVPAT से निकली पर्ची बॉक्स में रखने के लिए वोटर को देना चाहिए और पर्ची गणना के बाद परिणाम घोषित होने चाहिए।

Updated: Jan 20, 2023, 12:52 AM IST

चुनाव आयोग को सभी तरह के संदेहों से परे होना चाहिए, दिग्विजय सिंह ने की VVPAT से काउंटिंग की मांग

नई दिल्ली। देश में आगामी लोकसभा चुनाव से पहले निष्पक्ष चुनाव प्रक्रिया को लेकर बहस छिड़ गई है। चुनाव आयोग जहां RVM लाने का विचार कर रहा है, वहीं विपक्ष का कहना है कि आयोग पहले EVM की विश्वसनीयता साबित करे। ईवीएम और आरवीएम के मुद्दे पर विपक्षी दलों के समूह का नेतृत्व कर रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने VVPAT से काउंटिंग की मांग की है।

कांग्रेस की तरफ़ से इवीएम को लेकर बनायी गयी कमेटी की अध्यक्षता कर रहे दिग्विजय सिंह ने गुरुवार को एक ट्वीट थ्रेड के माध्यम से ईवीएम से संबंधित विपक्ष की मांगों को लेकर स्थिति स्पष्ट की है। सिंह ने लिखा है कि, "हम निर्वाचन आयोग के आभारी हैं कि उन्होंने आरवीएम को लेकर सर्वदलीय बैठक की। भारतीय संविधान और लोकतंत्र के हित में चुनाव आयोग को सीज़र की पत्नी की तरह संदेह से परे होना चाहिए।'

यह भी पढ़ें: चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को दिखाया RVM का प्रोटोटाइप, कांग्रेस समेत अधिकांश विपक्षी दलों ने जताई आपत्ति

सिंह ने आगे लिखा, "EVM को लेकर भरोसे की भारी कमी है। चिप वाली कोई भी मशीन टैम्पर प्रूफ नहीं है, यह एक सार्वभौमिक सत्य है। निर्वाचन आयोग को सिविल सोसाइटी एक्टिविस्ट्स और राजनीतिक दलों द्वारा उठाए गए सवालों का संतोषजनक जवाब देना चाहिए।" कांग्रेस नेता ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि वे बैलेट पेपर से मतदान के लिए दबाव नहीं बना रहे हैं। 

सिंह ने कहा, "मैं बैलेट पेपर द्वारा मतदान का सुझाव नहीं दे रहा हूं। मैं मामूली संशोधन के साथ ईवीएम से ही मतदान करने का बहुत ही सरल और उचित सुझाव दे रहा हूं...
1. ईवीएम पर मतदान के बाद VVPAT से निकली पर्ची बॉक्स में डालने के बजाय मतदाता के हाथ में दी जानी चाहिए।
2. इसके बाद मतदाता पर्ची को माइक्रोचिप मुक्त बैलेट बॉक्स में डाल दें।
3. वीवीपैट की पर्ची गिनने की मशीन स्थापित की जाए और फिर परिणाम घोषित करें।"

दरअसल, ईवीएम में वोट डालने के बाद VVPAT से एक पर्ची निकलती है। इस पर्ची पर चुनाव निशान देखकर मतदाता आश्वस्त हो सकते हैं कि उनका वोट उसी उम्मीदवार को गया है, जिसके सामने का बटन उन्होंने ईवीएम मशीन में दबाया। फिलहाल यह पर्ची खुद से बॉक्स में चली जाती है। सिंह चाहते हैं कि पर्ची लोगों को दिया जाए और वे उसे बॉक्स में डालें। बाद में पर्ची गिनकर नतीजों का ऐलान किया जाए।