Sanwer By Election: सांवेर में शुरू हुआ 'वोटिंग फ्रॉम होम’, 29 अक्टूबर तक होगा डाक मतपत्र से मतदान

MP By Election: दिव्यांग, बुजुर्ग और कोरोना पीड़ितों से 60 टीमें घर-घर जाकर करवाएंगी वोटिंग, मतदान प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी होगी

Updated: Oct 22, 2020, 05:25 PM IST

Sanwer By Election: सांवेर में शुरू हुआ 'वोटिंग फ्रॉम होम’, 29 अक्टूबर तक होगा डाक मतपत्र से मतदान
Photo Courtesy: The Statesman

इंदौर। सांवेर उपचुनाव के लिए कोरोना मरीजों, बुजुर्गों और दिव्यांग लोगों के लिए मतदान की प्रक्रिया आज यानि 22 अक्टूबर से शुरू हो गई है और 29 अक्टूबर तक यानी पूरे एक हफ्ते चलेगी। चुनाव के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि डाक मतपत्रों के जरिए होने वाली वोटिंग इतने लंबे समय तक चलेगी। इंदौर में कोरोना बढ़ते मामलों के बीच चुनाव आयोग ने यह फैसला लिया था।

पहली बार हो रही 'वोटिंग फ्रॉम होम’ प्रक्रिया 

पहली बार दिव्यांग, बुजुर्ग और कोरोना पाजिटिव मरीजों के लिए मतपेटियां घर-घर भेजी जा रही हैं। सांवेर में चुनाव के लिए 60 टीमें तैनात की गई हैं। इस दौरान 2128 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। उपचुनाव की हाई प्रोफाइल सीटों में एक सांवेर सीट पर बीजेपी के तुलसीराम सिलावट और कांग्रेस के प्रेमचंद गुड्‌डू में सीधी टक्कर हो रही है।  

कोरोना महामारी की वजह से चुनाव प्रक्रिया में बदलाव किया गया है। पहली बार 'वोटिंग फ्रॉम होम’ का आयोजन हो रहा है। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर उपचुनाव के लिए वोटिंग 3 नवंबर को होनी है। जिसमें इंदौर के सांवेर विधानसभा सीट पर करीब 2 लाख 70 हजार मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। 

 सर्वे के बाद लिया घर-घर जाकर वोटिंग का फैसला

इंदौर में कोरोना की भयावह स्थिति के मद्देनजर चुनाव आयोग ने 80 साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग, दिव्यांग और कोरोना पॉजिटिव मरीजों के लिए चुनाव की यह प्रक्रिया अपनाई है। चुनाव आयोग ने 9 से 13 अक्टूबर तक सर्वे करवाया था। घर पर मतदान करने के प्रस्ताव पर लोगों की सहमति मिलने के बाद यह प्रक्रिया लागू की गई है। आपको बता दें कि सांवेर में 80 साल से अधिक उम्र के 1 हजार 483 मतदाता और 637 दिव्यांग हैं जो इस प्रक्रिया में भाग ले रहे हैं। 8 कोविड प्रभावित और संदिग्ध मरीजों ने भी घर से वोट करने की रजामंदी दी है। चुनाव आयोग की 60 टीमें सात दिन में इन वोटर्स से वोटिंग करवाने का काम करेंगी।

मतदान दल के साथ होंगे डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ

मतदान के लिए जिम्मेदार टीमें इन मतदाताओं के घरों पर मतपेटियां लेकर जाएंगे और वोटिंग करवाएंगी। टीम को दो भागों में बांटा गया है एक टीम बुजर्ग और दिव्यांगों से मतदान कराएगी। जबकि दूसरा मतदान दल कोविड मरीजों से वोटिंग करवाएगा। मतदान दल में चुनाव अधिकारियों के साथ स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ भी मौजूद रहेंगे।

मतदान प्रक्रिया की हो रही वीडियोग्राफी

 इंदौर जिला निर्वाचन अधिकारी मनीष सिंह से मिली जानकारी के अनुसार 60 टीमों द्वारा करवाई जा रही वोटिंग की गोपनीयता बरकरार रखी जाएगी। डाक मतपत्रों से हो रही वोटिंग प्रक्रिया की वीडियोग्राफी का इंतजाम भी किया गया है।