अवैध शराब के बाद अब दूध में मिलावट में भी बीजेपी नेता का नाम, पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

बीजेपी के मंडल उपाध्यक्ष मनीष अग्रवाल के खिलाफ मिलावटी दूध बेचने के मामले में एफआईआर दर्ज, अवैध कच्ची शराब के गोरखधंधे में भी पाई गई थी बीजेपी नेता की संलिप्तता

Updated: Jan 17, 2021, 11:12 AM IST

अवैध शराब के बाद अब दूध में मिलावट में भी बीजेपी नेता का नाम, पुलिस ने दर्ज की एफआईआर
Photo Courtesy: Bhaskar

शिवपुरी। मध्य प्रदेश में अवैध शराब के काले धंधे के बाद अब दूध में मिलावट के मामले में भी बीजेपी नेता का नाम सामने आया है। प्रदेश के शिवपुरी जिले में दूध में मिलावट करने के आरोप में पुलिस ने बीजेपी के मंडल उपाध्यक्ष मनीष अग्रवाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। इसके पहले अवैध कच्ची शराब के गोरखधंधे में भी बीजेपी नेता की संलिप्तता पाई गई थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक पोहरी विधानसभा के बैराढ़ से बीजेपी के मंडल उपाध्यक्ष मनीष अग्रवाल की दूध की डेयरी है। उनकी डेयरी के दूध की गुणवत्ता को लेकर प्रशासन को लगातार शिकायतें मिल रही थीं। खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने उनकी डेयरी से दूध का नमूना लेकर जांच के लिए भोपाल भेजा। भोपाल की प्रयोगशाला से जो जांच रिपोर्ट सामने आई है वह चौंकाने वाली है। जानकारी के मुताबिक दूध में फैट की मात्रा 4.5 फीसदी की जगह महज 0.4 फीसदी पाई गई। इसे सिलसिले बीजेपी के मंडल उपाध्यक्ष मनीष अग्रवाल के खिलाफ पुलिस ने 420,272-IPC (खाद्यान्न सुरक्षा एंव मानक अधिनियम 2006 की धारा 26(2) के तहत एफआईआर दर्ज की है।

यह मामला सामने आने के बाद विपक्ष ने सीएम शिवराज पर करारा तंज कसा है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता केके मिश्रा ने ट्वीट किया, 'शिवराजजी, शिवपुरी(पोहरी) में अवैध शराब में BJP नेत्री के बाद बैराढ़ मंडल उपाध्यक्ष मनीष अग्रवाल पर भी 420,272-IPC (खाद्यान्न सुरक्षा एंव मानक अधि. 2006की धारा 26(2) के तहत प्रकरण दर्ज,ये भी राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा के ही खास? कहाँ है 10 फ़ीट गढ्डा?' 

दरअसल, पिछले दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चेतावनी भरे अंदाज़ में कहा था कि माफिया मध्य प्रदेश छोड़कर चले जाएं, वरना वे उन्हें जमीन में 10 फीट अंदर गाड़ देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा था कि वे गड़बड़ी करने वालों को कतई नहीं छोड़ेंगे। हालांकि अब जांच में एक के बाद एक मिलावट के मामलों में बीजेपी नेताओं के नाम आने के बाद सीएम ने चुप्पी साध ली है।

अब से दो दिन पहले पोहरी विधानसभा में ही बीजेपी महिला मोर्चा की मंडल अध्यक्ष ललिता राजे का नाम अवैध शराब के गोरखधंधे में सामने आया था। राज्य में नकली शराब पीने से 30 से ज्यादा लोगों की मौत होने के बाद आनन-फानन में इलाके में अवैध शराब का धंधा करने वालों पर पुलिस ने दबिश देनी शुरू की। इसी दौरान ललिता राजे के घर से 34 लीटर जहरीली शराब बरामद की गई। मामले में पुलिस ने ललिता के खिलाफ धारा 34 व 49 के तहत गैर जमानती केस दर्ज करके जेल भेज दिया है। हैरान करने वाली बात यह है कि दारू और दूध दोनों में मिलावट के आरोपी राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा के करीबी बताए जा रहे हैं।