1 लाख रुपए से ज़्यादा आया था सब्ज़ी कारोबारी का बिजली बिल, सदमे में चली गई जान

इंदौर निवासी अब्दुल सकुर को 25 फरवरी को बिजली विभाग ने 1 लाख 18 हज़ार रुपए का बिजली बिल थमाया था, उसी के बाद से सब्ज़ी कारोबारी सदमे से गुज़र रहे थे

Publish: Apr 01, 2021, 06:26 PM IST

1 लाख रुपए से ज़्यादा आया था सब्ज़ी कारोबारी का बिजली बिल, सदमे में चली गई जान

इंदौर। 25 मार्च को इंदौर में रहने वाले एक सब्ज़ी कारोबारी की सदमे से मौत हो गई। सब्ज़ी कारोबारी को बिजली विभाग ने 1 लाख रुपए से अधिक का बिजली बिल थमा दिया था। जिसके बाद से ही वे सदमे से गुज़र रहे थे। 25 मार्च को अचानक ही सब्ज़ी कारोबारी की मौत हो गई। 

53 वर्षीय अब्दुल सकुर सब्ज़ी का कारोबार करते थे। अब्दुल सकुर इंदौर के ग्रीन पार्क कॉलोनी में रहा करते थे। 25 फरवरी को बिजली विभाग ने उन्हें 1 लाख 18 हज़ार रुपए का बिजली का बिल थमा दिया था। इतनी बड़ी रकम के बिजली बिल को देखने के बाद अब्दुल के पैरों तले ज़मीन खिसक गई। अब्दुल सदमे में चले गए। और इस घटना के ठीक एक महीने बाद अब्दुल की मौत हो गई।  

इतना बड़ी रकम का बिजली बिल आने और अब्दुल की मौत के बीच बहुत कुछ घटित हुआ। अब्दुल के भाई के मुताबिक 25 फरवरी को बिजली विभाग के अधिकारी मीटर जांचने के लिए आए थे। बिजली विभाग के अधिकारियों ने भी अब्दुल से यही कहा था कि तुम्हारा बिजली बिल बहुत कम आता है। ज़रूर मीटर में कुछ गड़बड़ी है। अब्दुल के भाई के मुताबिक बिजली विभाग के अधिकारियों ने मीटर में गड़बड़ी का हवाला देते हुए स्मार्ट मीटर लगा दिया था। बिजली विभाग के अधिकारियों ने मीटर जांचने का आश्वासन देकर चिंता नहीं करने के लिए कहा था। 

यह भी पढ़ें : ग्वालियर: व्यापारी के भाईयों को धोखा देकर रचाई शादी, दो महीने बाद 7 लाख के गहने और 8 लाख का कैश लेकर फरार हुईं दोनों दुल्हन

लेकिन कुछ ही दिनों बाद बिजली विभाग के अधिकारियों ने अब्दुल पर बिजली चोरी का आरोप लगा दिया। विभाग की ओर से अब्दुल को 1 लाख 18 हज़ार रुपए का बिजली बिल थमाया गया। इस वजह से पहले ही सदमे से गुज़र रहे अब्दुल की हालत और बिगड़ गई। बात यहीं ख़त्म नहीं हुई। अब्दुल के सगे संबंधियों ने बिजली विभाग के अधिकारियों से इस मसले पर बात की। अब्दुल के रिश्तेदारों से बात करने पर अधिकारियों ने कहा कि अब्दुल के घर पर लगे मीटर में छेद था। अधिकारियों ने जल्द ही 75 हज़ार रुपए जमा करने के लिए कहा। बिजली विभाग ने 15 मार्च तक बिजली बिल जमा करने का अल्टीमेटम दिया। इसके साथ ही यह धमकी भी दी कि अगर अब्दुल ने बिजली का बिल जमा नहीं कराया तो उसे जेल जाना पड़ेगा। 

यह भी पढ़ें : बैतूल में पुलिस पर जुआरियों और ग्रामीणों ने किया जानलेवा हमला, मेले में चल रहे जुए को पकड़ने गई थी पुलिस

अधिकारियों की धमकी सुनकर अब्दुल की हालत और बिगड़ने लगी। सदमा झेलते झेलते अब्दुल ने 25 मार्च को दुनिया को अलविदा कह दिया। अधिकारियों की धमकियों ने अब्दुल की जान ले ली। अब्दुल के परिजन भी अधिकारियों की लापरवाही और धमकियों को ही अब्दुल की जान जाने की वजह बता रहे हैं। अब्दुल अपने पीछे दो लड़की और एक लड़के को छोड़ गए हैं। अब्दुल की एक लड़की की शादी हो चुकी है।