ईद पर ममता बनर्जी की हुंकार, अच्छे दिन आएंगे, हम डरे नहीं हैं, हम लड़ना जानते हैं

ईद-उल-फितर के मौके पर मंगलवार को कोलकाता के रेड रोड पर ममता बनर्जी नमाज में शामिल हुईं, इस दौरान उन्होंने कहा कि 'सारे जहां से अच्छा, हिन्दोस्तां हमारा' का उद्घोष किया

Updated: May 03, 2022, 12:35 PM IST

ईद पर ममता बनर्जी की हुंकार, अच्छे दिन आएंगे, हम डरे नहीं हैं, हम लड़ना जानते हैं

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज ईद के मौके पर लोगों को संबोधित किया। कोलकाता की रेड रोड पर ईद की नमाज खत्म होने का बाद सीएम बनर्जी ने सारे जहां से अच्छा, हिन्दोस्तां हमारा' के उद्घोष के साथ कहा कि अच्छे दिन आएंगे... हम डरते नहीं, हम लड़ना जानते हैं।

कोलकाता की बारिश से भीगी रेड रोड पर ईद-उल-फितर की नमाज में शामिल हुईं बनर्जी ने वहां मौजूद लोगों से एकजुट होने का आह्वान किया। सीएम बनर्जी ने कहा कि, 'आज देश में जो फूट डालो राज करो की नीति चल रही है, वो ठीक नहीं है.अलगाव की राजनीति चल रही है, वो भी ठीक नहीं है। हम एकता चाहते हैं, हम सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा चाहते हैं।'

यह भी पढ़ें: शिव बूटी के नाम पर गांजे का सेवन करने से युवाओं की बर्बादी, लक्ष्मण सिंह की चिंता पर बीजेपी ने गिनाए फायदे

टीएमसी सुप्रीमो ने कहा 'देश में हालात ठीक नहीं हैं। 
अच्छे दिन आएंगे लेकिन ये झूठे वाले अच्छे दिन नहीं होंगे। अच्छे दिन आएंगे, सबके साथ आएंगे।।सबको एक साथ में रहना है, एक साथ काम करना है। जो लोग हिंदू-मुसलमान को अलग करने की बात करते हैं उनकी बात मत सुनिए।' रेड रोड पर ईद की नमाज में करीब 14,000 लोग मौजूद थे।  बनर्जी ने उन्हें आश्वासन दिया, 'न तो मैं और न ही मेरी पार्टी और न ही मेरी सरकार ऐसा कुछ भी करेगी जिससे आपको दुख हो।'
 
उधर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना स्थित गांधी मैदान पहुंचकर ईद-उल-फितर के अवसर पर आयोजित नमाज में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि दो साल से कोविड के चलते लोग यहां नहीं आ पा रहे थे, खुशी है कि फिर से ईद के अवसर पर यहां बड़ी संख्या में लोग आए हैं। बिहार आगे बढ़े, देश आगे बढ़े, भाईचारा रहे।'

यह भी पढ़ें: ईद के दिन जोधपुर में सांप्रदायिक तनाव, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले, इंटरनेट सेवाएं ठप

पूर्व उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने नई दिल्ली में संसद मार्ग मस्जिद में ईद की नमाज अदा करने के बाद कहा कि पूरे मुल्क़ को ईद मुबारक हो। मुल्क़ में अमन रहे. सब इकट्ठा हुए, आपने देखा कितने लोग आए थे। कभी-कभी कुछ लोग पागल हो जाते हैं, लोगों को भटका देते हैं, वरना देश में हमेशा अमन ही रहता।