Bihar Flood: बाढ़ में डूबकर देशभक्ति का नायाब प्रदर्शन

Independence Day 2020: गोपालगंज में बाढ़ को सीने तक झेलकर स्कूल में ध्वजारोहण, स्वतंत्रता दिवस पर देशभक्ति के जज़्बे की अनोखी तस्वीरें, कहीं सीने तक पानी में तो कहीं नाव पर ध्वजारोहण

Updated: Aug 16, 2020 09:10 PM IST

Bihar Flood: बाढ़ में डूबकर देशभक्ति का नायाब प्रदर्शन

पटना। कोरोना महामारी का दंश झेल रहे भारत में शनिवार को तमाम परेशानियों और चुनौतियों के बीच स्वतंत्रता दिवस मनाई गई। सोशल डिस्टेंसिंग के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए देशभर में लोगों ने हर्षोल्लास से ध्वजारोहण किया। इसी बीच बिहार के विभिन्न जिलों से स्वतंत्रता दिवस की अनोखी तस्वीरें आई है। बाढ़ का मार झेल रहे बिहार के कई जगहों पर देशभक्ति का अद्भुत नजारा देखने को मिला। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लोगों की देशभक्ति के आगे बाढ़ की पानी हारती हुई नजर आई। इस दौरान लोगों ने कहीं कमर भर, कहीं गर्दन तक पानी मे घूंसकर झंडा फहराता तो कहीं नाव पर बैठकर।

ऐसी ही एक तस्वीर बिहार के गोपालगंज से आई है जिसे देखकर लगता है कि हालात जैसे भी हों, जो देशप्रेमी हैं वह देश के प्रति अपना कर्तव्य हर हाल में निभाएंगे। सोशल मीडिया पर गोपालगंज का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें देखा जा सकता है कि सरकारी स्कूल के बाहर सीने तक बाढ़ की पानी में भी शिक्षकगण ध्वजारोहण कर रहे हैं। यह अद्भुत नजारा गोपालगंज के बरौली प्रखंड के कहला गांव स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय का है। वायरल हो रहे वीडियो में देखा जा सकता है कि सीने तक पानी होने के बावजूद शिक्षकों के ऊर्जा में कमी नहीं आई है और व बुलंदी से नारे लगा रहा हैं।

नाव पर फहराया झंडा

बाढ़ की त्रासदी झेल रहे दरभंगा जिले में एक पंचायत के मुखिया ने नाव के सहारे अपने लोगों के बीच जाकर झंडा फहराया। यह घटना जिले के बहादुरपुर के मेकना बैदा पंचायत का है। पंचायत के मुखिया मोहम्मद कलाम ने एबीपी न्यूज़ से कहा, 'आज पूरे देशभर में आजादी के जश्न का माहौल है। मेरा पंचायत पूरी तरह से बाढ़ में डूबा हुआ है। ऐसे में जो बच्चे विद्यालय में जाकर तिरंगा फहराते थे वह इस साल बाढ़ की वजह से नहीं कर सकते थे। ऐसे में मैने उन बच्चों का हौसला बढ़ाने के लिए नाव से उनके बीच जाकर नाव पर ही झंडा फहराया।

गले तक पानी में आंगनबाड़ी सेविका ने फहराया तिरंगा

दरभंगा जिले से ही एक आंगनबाड़ी सेविका की एक तस्वीर आई है जिसने यह साबित कर दिया है महिलाएं देशप्रेम के मामले में पुरुषों से कहीं कम नहीं हैं। यह तस्वीर जिले के बिरौल प्रखंड के बिरौल पंचायत के लांक फैरदा टोल के आंगनबाड़ी केंद्र की है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस तस्वीर में देखा जा सकता है कि आंगनबाड़ी सेविका अपने केंद्र के बाहर गले तक पानी में ध्वजारोहण कर रही है।

सारे जहां से अच्छा...

दरभंगा जिले का ही एक और वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे वीडियो में देखा जा सकता है कि एक सख्स भयानक बाढ़ में नाव पर बैठा हुआ है और पास में तिरंगा लहर रहे है। इस दौरान वह बड़े प्यार और देशभक्ति के जज्बे के साथ गीत 'सारे जहां से अच्छा... हिंदुस्तान हमारा-हमारा' गा रहा है। बताया जा रहा है कि इनका नाम नजत हाशमी है। यह पेशे से शिक्षक हैं और बाढ़ से लड़ते हुए ये अपने विद्यालय जा रहे हैं जहां उन्हें ध्वजारोहण करना है।

बता दें कि बिहार के करीब 16 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस भयानक बाढ़ ने लगभग 81 लाख से ज्यादा लोगों का आम जनजीवन प्रभावित किया है। लाखों लोग अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर रहने को मजबूर हैं। बाढ़ की मार झेलने के बावजूद सभी के दिलों में देशप्रेम कायम और वे स्वतंत्रता दिवस के उत्सव को फीका नहीं होने देना चाहते हैं।