अर्णब गोस्वामी की कथित WhatsApp चैट लीक, सत्ता तक पहुँच का दुरुपयोग करने के लगे आरोप

अर्णब गोस्वामी और टीवी रेटिंग एजेंसी BARC के पूर्व CEO पार्थो दासगुप्ता कथित चैट के स्क्रीन शॉट हुए वायरल, वकील प्रशांत भूषण ने कहा अर्णब के लंबे समय तक जेल जाने के लिए इतने सबूत काफ़ी

Updated: Jan 15, 2021, 08:05 PM IST

अर्णब गोस्वामी की कथित WhatsApp चैट लीक, सत्ता तक पहुँच का दुरुपयोग करने के लगे आरोप
Photo Courtesy : The Quint

मुंबई। रिपब्लिक टीवी चैनल के मालिक अर्नब गोस्वमी अब टेलिविजन रेटिंग पॉइंट्स (TRP) के हेरफेर के मामले में बुरी तरह फंसते नजर आ रहे हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक मुंबई पुलिस ने इस मामले में लगभग 3600 पेज की जो पूरक चार्जशीट दायर की है, उसमें अर्णब गोस्वामी के 512 पन्ने के वॉट्सऐप चैट्स शामिल हैं। अर्णब के इन कथित चैट्स के कुछ स्नैपशॉट्स सोशल मीडिया पर भी लीक हुए हैं, जिनकी वजह से उन पर अपने रसूख के गलत इस्तेमाल का आरोप लग रहा है।

सोशल मीडिया पर लीक हुए अर्णब के कथित वॉट्सऐप चैट्स के आधार पर आरोप लग रहा है कि इस खेल में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह जैसे लोगों तक अपनी पहुंच का नाजायज फायदा उठाया है। अर्णब के इन वॉट्सऐप चैट्स के बाहर आने के बाद देशभर में उनके कारनामों को लेकर बहस छिड़ी हुई है। वहीं सुप्रीम कोर्ट के मशहूर वकील प्रशांत भूषण ने कहा है कि अर्णब के लंबे समय तक हवालात में रहने के लिए यह चैट्स काफी हैं।

प्रशांत भूषण ने ट्वीट किया, 'ये BARC के सीईओ और अर्णब गोस्वामी के बीच हुई बातचीत की लीक हुई वाट्सऐप चैट के कुछ स्नैपशॉट हैं। इन चैट्स के स्क्रीनशॉट से कई साज़िशों और मौजूदा सरकार के दौर में सत्ता तक उनकी अभूतपूर्व पहुंच के साथ साथ, मीडिया के गलत इस्तेमाल और सत्ता के दलाल के रूप में उनकी हैसियत का खुलासा होता है। कानून के राज वाले किसी भी देश में उन्हें लंबे समय तक जेल भेजने के लिए इतना काफी है।'

इस मामले में देशभर के पत्रकार भी अब अर्णब की इन करतूतों के खिलाफ मुखर हो गए हैं। जानेमाने पत्रकार और फिल्म निर्देशक विनोद कापड़ी ने चैट्स का वीडियो साझा करते हुए लिखा, 'जिन्हें इन वॉट्सऐप चैट पर ज़रा भी शक है, उनकी जानकारी के लिए - BARC के पूर्व सीईओ पार्थो के साथ सुपारी संपादक की 512 पन्नों की Whats app chat का ये रहा सुबूत, इस घिनौने आदमी का राडिया टेप्स कांड हो गया है।'

 

विनोद कापड़ी ने एक अन्य ट्वीट में अन्य टीवी चैनलों पर भी निशाना साधा है। कापड़ी ने कहा कि, 'मासूम रिया की वॉट्सऐप चैट न्यूज़ चैनलों ने चौबीसों घंटे दिखाई। ज़रा भी रीढ़ और शर्म बाक़ी है तो इस मॉन्स्टर सुपारी संपादक के क्रिमिनल गैंग को एक्सपोज करो।' उन्होंने आगे कहा, 'सुपारी संपादक के साथ हुई इस वॉट्सऐप में कई केंद्रीय मंत्रियों का ज़िक्र है। ये बहुत बड़ा घोटाला है। सरकार को सफ़ाई देनी ही होगी।'

बता दें कि टीआरपी में सनसनीखेज गड़बड़ी का यह मामला 8 अक्टूबर को तब सामने आया जब मुंबई पुलिस ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस की थी। मुंबई पुलिस ने बताया है कि कुछ टीवी चैनल पैसे देकर अपनी टीआरपी बढ़ाया करते थे जिनमें रिपब्लिक टीवी मुख्य रूप से शामिल है। मुंबई पुलिस ने दावा किया था कि विज्ञापन की ऊँची क़ीमतें वसूलने के लिए ये चैनल रेटिंग से छेड़छाड़ करा रहे थे जो कि धोखाधड़ी की श्रेणी में आती है।