पूर्व क्रिकेटर अशोक डिंडा के काफिले पर हुआ हमला, बीजेपी और टीएमसी के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू

अशोक डिंडा के काफिले पर अज्ञात लोगों ने मंगलवार शाम को हमला कर दिया, उस समय डिंडा अपनी विधानसभा में चुनाव प्रचार कर रहे थे

Publish: Mar 30, 2021, 11:45 PM IST

पूर्व क्रिकेटर अशोक डिंडा के काफिले पर हुआ हमला, बीजेपी और टीएमसी के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू
Photo Courtesy: Twitter

कोलकाता। पूर्व भारतीय क्रिकेटर और बीजेपी उम्मीदवार अशोक डिंडा के काफिले पर हमला हुआ है। अशोक डिंडा के काफिले पर मंगलवार शाम को कुछ अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया। अशोक डिंडा पर हुए हमले के बाद बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। 

दरअसल मंगलवार शाम जब अशोक डिंडा पूर्वी मेदिनापुर के अंतर्गत आने वाली मोयना विधानसभा में चुनाव प्रचार कर रहे थे, उस दौरान लगभग सौ की संख्या में कुछ उपद्रवियों ने उनके काफिले पर हमला कर दिया। हमले में डिंडा का काफिला काफी क्षतिग्रस्त हो गया। डिंडा के भी चोटिल होने की खबरें हैं। 

यह भी पढ़ें :बंगाल चुनाव: पहले चरण में 3-4 सीटों पर सिमट जाएगी बीजेपी, दिलीप घोष की कथित चिट्ठी वायरल

मीडिया रिपोर्ट्स में डिंडा के मैनेजर के हवाले से यह दावा किया जा रहा है कि काफिले पर हमले में डिंडा को काफी चोट आई है। मैनेजर के मुताबिक डिंडा के काफिले पर रोड शो के दौरान कथित तौर पर टीएमसी का गुंडा शाहजहां अली ख़ान और उसके समर्थकों ने डंडों, पत्थर और रोड से हमला कर दिया। हमले के दौरान डिंडा ने अपना सिर नीचे झुका लिया जिस वजह से वह बच गए। मैनेजर के मुताबिक डिंडा बीच वाली सीट पर बैठे हुए थे, पत्थर के गाड़ी में घुसने से पहले डिंडा ने अपना सिर झुका लिया जिस वजह से वे सुरक्षित बच गए। मैनेजर के मुताबिक डिंडा के कंधे पर चोट लगी है, और उनके कंधे में इस समय काफी दर्द है। 

यह भी पढ़ेंमोदी के पत्र का इमरान ने दिया जवाब, पाकिस्तान भी अपने पड़ोसियों के साथ चाहता है शांति

डिंडा के चोटिल होने के बाद तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। टीएमसी के ज़िला अध्यक्ष अखिल गिरी ने सभी आरोपों का खण्डन किया है। अखिल गिरी के मुताबिक डिंडा के काफिले पर हुआ हमला बीजेपी की अंदरुनी लड़ाई का परिणाम है। टीएमसी नेता के मुताबिक क्षेत्र के पुराने बीजेपी नेता डिंडा को मोयना विधानसभा के उम्मीदवार के रूप में स्वीकार नहीं कर रहे हैं, जिस वजह से डिंडा के काफिले पर हमला किया गया है।