असम में बाढ़ से तबाही जैसे हालात , 6 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

बाढ़ से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्र बराक घाटी और सर्वाधिक प्रभावित जिला डिमा हसाओ है, मौसम विभाग ने अगले 4 दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है

Updated: May 19, 2022, 11:46 AM IST

असम में बाढ़ से तबाही जैसे हालात ,  6 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित
Courtesy: The New Indian Express

गुवाहाटी: असम में लगातार बारिश से बने हालातों ने जीवन को अस्तव्यस्त कर दिया है, ब्रह्मपुत्र और कोपीली नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।

असम में बाढ़ से 26 जिले प्रभावित हैं और बाढ़, भूस्खलन से सड़कें उखड़ गई है, कई पुल बह गए हैं जिससे राज्य के कई स्थानों से संपर्क टूट गया।असम के अलावा अरुणाचल प्रदेश में बाढ़ से हालात बिगड़ते जा रहे हैं, यहां भूस्खलन से 4 लोगों की मौत हो गई।भारतीय मौसम विभाग ने अगले चार दिन तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

यह भी पढ़ें ...सिवनी में बाघ पर हुई पत्थरबाज़ी, ग्रामीणों के खिलाफ कार्रवाई की माँग

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा ने कहा कि केंद्र ने असम के लिए ₹1,000 करोड़ मंजूर किए हैं और हम जिला अधिकारियों को ₹150 करोड़ पहले ही जारी कर चुके हैं। स्थिति से निपटने के लिए हमारे पास पर्याप्त धन है।हमारी सरकारी मशीनरी प्रभावित लोगों की मदद करने और राहत उपाय करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रही है। बाढ़ से सर्वाधिक प्रभावित जिला डिमा हसाओ हैं जहां बाढ़ और भूस्खलन से कारण हुए कटाव से रेल और सड़क यातायात प्रभावित हुआ, संपर्क को बहाल करने और भोजन, अन्य आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के प्रयास जारी है।

 

 

बाढ़ के कारण फसें होजई जिले के निवासियों को एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और भारतीय सेना की मदद से निकाला जा रहा है।बाढ़ प्रभावित काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान एवं अन्य वन्य जीव अभयारण्य में जानवरों की सुरक्षा के लिए 40 उच्च स्थानों का निर्माण कराया गया है।