CM बनते ही चरणजीत चन्नी ने दिलाया भरोसा, इसी कार्यकाल में पूरे होंगे सभी वादे

चरणजीत सिंह चन्नी ने किसानों के बकाया बिजली बिल माफ करने का एलान किया है, इसके साथ ही चन्नी ने किसानों के कटे बिजली कनेक्शन फिर से बहाल करने का आश्वासन दिया है

Publish: Sep 20, 2021, 01:47 PM IST

CM बनते ही चरणजीत चन्नी ने दिलाया भरोसा, इसी कार्यकाल में पूरे होंगे सभी वादे

नई दिल्ली। पंजाब के कप्तान के तौर पर काबिज होते ही चरणजीत सिंह चन्नी ने बड़ा एलान किया है। चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा है कि कांग्रेस ने विधानसभा चुनावों के दौरान जनता से जो जो वादे किए थे, वो सभी वादे इसी कार्यकाल में पूरे होंगे। चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा है कि उनके कार्यकाल में किसी के साथ गलत नहीं होगा। 

नए मुख्यमंत्री ने यह बातें प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही। चरणजीत सिंह चन्नी सीएम पद की शपथ लेने के बाद पंजाब भवन पहुंचे थे, वहां पर प्रेस को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब में किसी भी तरह के माफिया की जगह नहीं होगी। चन्नी ने यह एलान किया कि पंजाब में किसानों के बकाया बिजली के बिल माफ किए जाएंगे। इसके साथ ही उनके कटे हुए बिजली के कनेक्शन फिर से बहाल किए जाएंगे। नए सीएम ने कहा कि पंजाब में किसी तरह के माफिया की कोई जगह नहीं होगी। 

सीएम चरणजीत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी का आभार व्यक्त किया। चन्नी ने कहा कि राहुल गांधी ने एक गरीब व्यक्ति में अपना भरोसा जताया इसके लिए वे दिल से राहुल गांधी के शुक्रगुजार हूं। अब उनका लक्ष्य पंजाब को प्रगति की राह पर अग्रसर करना है। 

चरणजीत सिंह पंजाब के पहले दलित मुख्यमंत्री हैं। बतौर सीएम उनका पहला कार्यकाल चंद महीनों का रहने वाला है। क्योंकि अगले साल पंजाब में विधानसभा चुनाव होने हैं। इससे पहले बतौर मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के सामने कई चुनौतियां हैं। चुनाव से पहले पंजाब की जनता को किए सभी वादे पूरे करने की अहम जिम्मेदारी चरणजीत सिंह चन्नी को कांग्रेस आलाकमान ने सौंपी है। 

यह भी पढ़ें : चरणजीत सिंह ने ली सीएम पद की शपथ, कैप्टन ने शपथ ग्रहण समारोह से बनाई दूरी

चरणजीत सिंह चन्नी आज से मुख्यमंत्री का पदभार ग्रहण कर चुके हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि चरणजीत सिंह चन्नी आज ही प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात कर सकत हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी इस समय पंजाब में ही मौजूद हैं। लिहाज़ा सबकी नजरें इस बात को लेकर भी टिकी हुई हैं कि राहुल और कैप्टन अमरिंदर सिंह की मुलाकात होती है या नहीं?