देश में पूर्व गृहमंत्री चिदंबरम की पसली में फ्रैक्चर, सुरजेवाला बोले- बर्बरता की हद पार गई मोदी सरकार

कांग्रेस नेताओं के साथ दिल्ली पुलिस की बर्बरता, पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम और सांसद प्रमोद तिवारी की पसलियों में फ्रैक्चर, कांग्रेस बोली- अंग्रेजों से लड़ा है, आपसे भी लड़ेंगे

Updated: Jun 14, 2022, 12:42 AM IST

देश में पूर्व गृहमंत्री चिदंबरम की पसली में फ्रैक्चर, सुरजेवाला बोले- बर्बरता की हद पार गई मोदी सरकार

नई दिल्ली। कांग्रेस नेताओं के पैदल मार्च के दौरान सोमवार को दिल्ली पुलिस का बर्बर रूप देखने को मिला। राजधानी में विपक्षी दल के सांसदों, पूर्व मंत्रियों और मौजूदा मुख्यमंत्रियों के साथ पुलिस ने न केवल दुर्व्यवहार किया, बल्की सरेआम मारपीट भी की। इस दौरान देश के पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम की पसली में फ्रैक्चर आ गया। कांग्रेस ने इस संबंध में बयान जारी कर कहा कि मोदी सरकार ने बर्बरता की हद पार कर दी है।

कांग्रेस पार्टी के सीनियर प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस संबंध में बयान जारी कर कहा कि, 'कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल पर जानलेवा हमला बोला गया। दिल्ली के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल को लाठियों से बर्बरता से पीटा गया। मोदी सरकार की बदले की कार्रवाई का आलम देखिए देश के पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम की पसली तोड़ दी गई। उन्हें धक्के मारे गए। उनका चश्मा कांग्रेस कार्यालय के बाहर जमीन पर फेंक दिया गया। क्या मोदी सरकार को यह मालूम नहीं कि देश के गृहमंत्री के साथ कैसा व्यवहार होगा?'

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आगे कहा कि, कांग्रेस सांसद प्रमोद तिवारी को सड़क पर फेंककर मारा गया। उनका सर जमीन पर लगा और उनकी पसली में फ्रैक्चर हो गया। चिदंबरम और प्रमोद तिवारी दोनों की पसलियों में हेयर लाइन फ्रैक्चर है। क्या शांतिपूर्वक तरीके से राहुल गांधी के साथ चलकर जाना पाप हो गया है? अत्याचार की ये हद है कि कांग्रेस के हजारों कार्यकर्ता दिल्ली के अलग अलग थानों में बंद हैं। मोदी जी कितना अत्याचार करेंगे?'

सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री मोदी को चेतावनी देते हुए कहा कि, 'आप ये जान लें, ये कांग्रेस के लोग हैं ये डरने वाले नहीं, ये झुकने वाले नहीं, ये दबने वाले नहीं। हम प्रजातंत्र की राह पर निरंतर चलते रहेंगे। आप मारिए, पीटीए, बर्बरता दिखाइए। अंग्रेजी हुकूमत की एक बार फिर याद आ गई। याद रखिए कांग्रेस ने अंग्रेजों से भी लड़ाई की थी और अब हम आपसे भी लड़ेंगे। तबतक लड़ेंगे जबतक प्रजातंत्र जीत न जाए।'

पुलिस कार्रवाई को लेकर पी चिदंबरम ने कहा कि, 'जब तीन बड़े और भारी भरकम पुलिसकर्मी आप से टकराते हैं, तो आप भाग्यशाली होते हैं कि एक संदिग्ध हेयरलाइन क्रैक से बच जाते हैं! डॉक्टरों ने कहा है कि अगर हेयरलाइन क्रैक है, तो यह लगभग 10 दिनों में अपने आप ठीक हो जाएगी। मैं ठीक हूँ और कल अपने काम पर जाऊँगा।'

बता दें कि केंद्रीय एजेंसी ईडी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी को समन भेजा था। राहुल गांधी को सोमवार को ईडी के समक्ष पेश होना था। ऐसे में कांग्रेस के सभी नेता पार्टी मुख्यालय से ईडी दफ्तर के लिए पैदल निकले थे। इस शांतिपूर्ण मार्च को रोकने के लिए पुलिस ने बलप्रयोग किया। उधर ईडी के अधिकारी राहुल गांधी से लगातार 10 घंटे तक पूछताछ करते रहे। देर रात राहुल गांधी ईडी के दफ्तर से बाहर निकले। बताया जा रहा है उन्हें मंगलवार को फिर से बुलाया गया है।