शिवराज सिंह चौहान ने आदिवासियों को जंगल का मालिक बनाया, जंबूरी मैदान में अमित शाह ने की CM की तारीफ

भोपाल में आयोजित वन समितियों के सम्मेलन में शामिल हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, वन समितियों को लाभांश की राशि वितरित की, सीएम चौहान ने कहा- अब तेंदूपत्ता संग्राहकों को गड्डी पर 250 की जगह 300 मिलेंगे

Updated: Apr 22, 2022, 06:42 PM IST

शिवराज सिंह चौहान ने आदिवासियों को जंगल का मालिक बनाया, जंबूरी मैदान में अमित शाह ने की CM की तारीफ

भोपाल। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शुक्रवार को भोपाल स्थित जंबूरी मैदान में आयोजित वन समितियों के सम्मेलन में शामिल हुए। गृहमंत्री ने कार्यक्रम में तेंदूपत्ता संग्राहकों को लाभांश की राशि हस्तांतरित किया। इस दौरान उन्होंने मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान की जमकर तारीफें की। शाह ने कहा कि, 'देश में ऐसा पहली बार है, जब किसी सरकार ने आदिवासियों को जंगल का मालिक बनाया है। शिवराज का यह कदम अनुकरणीय हैं।'

अमित शाह ने इस दौरान मौजूद जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जो विचारधारा है, गरीब से गरीब को अधिकार मिले, उस स्वप्न को शिवराज सिंह साकार करने का काम कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में 21% अनुसूचित जनजाति की आबादी रहती है। जब तक जनजातीय भाइयों-बहनों का कल्याण नहीं होता, प्रदेश का कल्याण नहीं होता।'

शाह ने आगे कहा कि, 'पहली बार देश में कोई राज्य सरकार जंगलों का मालिक जनजाति भाइयों को बनाने का काम कर रही है। पहली बार जंगल से जो भी कमाई होती है। इसका 20% हिस्सा वन समिति के हाथ में सौंपकर आपको इसका सीधा मालिक बनाने का काम किया है। दस साल में सकल घरेलू उत्पाद में 200% की वृद्धि मध्यप्रदेश ने की है। ये रुकने वाले कार्य नहीं है। जितने भी कार्य जनजातीय भाइयों के लिए हमने घोषित किए हैं, वे सभी पूरे होंगे।'

यह भी पढ़ें: अंग्रेजों की डंडा मार पुलिस अब नहीं चलेगी, तर्कपूर्ण पुलिसिंग जरूरी है: भोपाल में बोले अमित शाह

इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आदिवासियों से कहा कि, 'ये जल, जमीन, जंगल आपके हैं। अब जंगल आप ही बचाओगे। जंगल आपको सौंप दिए गए हैं, वन विभाग सिर्फ सहयोग करेगा। जंगल की लकड़ी जितने में बिकेगी, उसका 20% आदिवासियों को मिलेगा।' सीएम ने ऐलान किया कि तेंदूपत्ता तुड़वाने के अभी 250 रुपए प्रति 100 ग​ड्डी दिए जाते थे, अब उसे बढ़ाकर 300 रुपए प्रति 100 गड्डी किए जाएंगे।'

मुख्यमंत्री ने कहा कि, 'मध्यप्रदेश में जिन गरीब भाई-बहनों के पास रहने के लिए जमीन नहीं है। उनको मुख्यमंत्री भू आवासीय अधिकार योजना के अंतर्गत रहने की जमीन का पट्टा देकर जमीन का मालिक बनाया जाएगा। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 10 हजार करोड़ रु बजट में रखे गये हैं। मुझे यह कहते हुए खुशी है कि हमारे जनजातीय भाई-बहनों ने वनों से केवल लाभ प्राप्त नहीं किया बल्कि वनों को जिंदगी को भी संजाने संवारने का भी कार्य किया है। प्रदेश में हरियाली लाने का कार्य किया है।'

कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, फग्गन सिंह कुलस्ते, प्रहलादसिंह पटेल, एल. मुरूगन, BJP राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के अलावा प्रदेश सरकार में मंत्री नरोत्तम मिश्रा, विजय शाह, अरविंद भदौरिया, भूपेंद्र सिंह, विश्वास सारंग, सांसद साध्वी प्रज्ञासिंह ठाकुर, कलसिंह भाबर, ओपी धुर्वे समेत क्या मंत्री विधायक मौजूद थे।