मानिकराव ठाकरे होंगे तेलंगाना कांग्रेस के नए प्रभारी, दिग्विजय सिंह के फीडबैक रिपोर्ट के आधार पर बड़ा फेरबदल

तेलंगाना के असंतुष्ट नेताओं से मुलाकात कर लौटे दिग्विजय सिंह के फीडबैक रिपोर्ट के आधार पर कांग्रेस अध्यक्ष ने मणिकम टैगोर को प्रभारी पद से हटाया, मणिकम पर पक्षपात का आरोप लग रहा था।

Updated: Jan 05, 2023, 09:10 AM IST

मानिकराव ठाकरे होंगे तेलंगाना कांग्रेस के नए प्रभारी, दिग्विजय सिंह के फीडबैक रिपोर्ट के आधार पर बड़ा फेरबदल

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मणिकम टैगोर को तेलंगाना कांग्रेस के प्रभारी पद से मुक्त कर दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने माणिकराव ठाकरे को तेलंगाना का नया AICC इंचार्ज नियुक्त किया है। हाल ही में तेलंगाना कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं से मुलाकात कर लौटे दिग्विजय सिंह के फीडबैक रिपोर्ट के आधार पर यह फेरबदल की गई है।

जानकारी के मुताबिक मणिकाम टैगोर पर पक्षपात के आरोप लग रहे थे। तेलंगाना कांग्रेस के असंतुष्ट सीनियर नेताओं ने दिग्विजय सिंह से उनकी शिकायत की थी। अंतर्कलह से जूझ रहे तेलंगाना कांग्रेस में डैमेज कंट्रोल के लिए हैदराबाद गए दिग्विजय सिंह ने सभी नेताओं को आश्वस्त किया था कि उनकी उनकी शिकायतें दूर की जाएगी। अब इसका असर भी देखने को मिला है, जब सिंह की फीडबैक रिपोर्ट के आधार पर हाईकमान ने तत्काल प्रभाव से प्रदेश प्रभारी बदल दिया है।

यह भी पढ़ें: जी भाई साहब जी: व्‍यापमं मामले में आठ साल बाद एफआईआर, पार्टनर पॉलिटिक्‍स क्‍या है

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने तेलंगाना के प्रभारी मणिकम टैगोर को तेलंगाना से हटाकर गोवा का प्रभारी नियुक्त किया। कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बुधवार देर शाम एक विज्ञप्ति जारी कर कहा, 'कांग्रेस अध्यक्ष ने तत्काल प्रभाव से माणिकराव ठाकरे को तेलंगाना का एआईसीसी प्रभारी नियुक्त किया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने मनिकम टैगोर को भी तत्काल प्रभाव से गोवा का एआईसीसी प्रभारी नियुक्त किया है।'

विज्ञप्ति में कहा गया है कि मणिकम टैगोर दिनेश गुंडू राव की जगह गोवा के प्रभारी होंगे। जबकि दिनेश गुंडू राव तमिलनाडु और पुदुचेरी के एआईसीसी प्रभारी बने रहेंगे। बता दें कि इस साल तेलंगाना में विधानसभा चुनाव होने वाला है। चुनाव से ठीक पहले यह फेरबदल बेहद अहम माना जा रहा है। दरअसल, कुछ वरिष्ठ नेताओं की शिकायत के मद्देनजर पार्टी की राज्य इकाई में संकट को हल करने के लिए हाईकमान ने राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह को हैदराबाद भेजा था।

यह भी पढ़ें: बीजेपी की तरह काम कर रही है टीआरएस सरकार, हैदराबाद में केसीआर पर बरसे दिग्विजय सिंह

दिग्विजय सिंह ने प्रदेश कांग्रेस के असंतुष्ठ नेताओं से मुलाकात के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था, 'राजनीति में महत्वाकांक्षा होना स्वाभाविक है। लेकिन पार्टी का अनुशासन सर्वोपरि होता है। मैं हाथ जोड़कर सभी कांग्रेसजनों को, विशेषकर वरिष्ठ नेताओं से प्रार्थना करता हूं कि उन्हें जो भी बात करना है पार्टी फोरम पर करें। आरोप-प्रत्यारोप की कोई आवश्यकता नहीं है। इस मामले में कांग्रेस नेतृत्व ने साफ फैसला किया है कि इसकी पुनरावृत्ति नहीं होनी चाहिए। अगर ऐसा हुआ है तो कार्रवाई की जाएगी, चाहे कोई कितना भी बड़ा नेता क्यों न हो।' सिंह ने एकजुटता पर जोर देते हुए कहा था कि, 'तेलंगाना में सत्ता विरोधी लहर है, लेकिन कांग्रेस को एकजुट होकर इस अभियान में जुड़ना होगा। एकता आवश्यक है और एकता के माध्यम से ही हम इन भ्रष्ट और सत्तालोलुप पार्टियों को हरा सकते हैं।'