देश नहीं बीजेपी को अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से माँगनी चाहिए माफ़ी, तेलंगाना के मंत्री केटीआर ने पीएम पर साधा निशाना

तेलंगाना के मंत्री केटी रामाराव, जो कि मुख्यमंत्री के बेटे भी हैं ने कहा है कि बीजेपी को सबसे पहले देश के लोगों से अपने नफरती तेवरों के लिए माफ़ी माँगनी चाहिए.. भारत को शर्मिंदा न करे बीजेपी

Updated: Jun 06, 2022, 05:44 PM IST

देश नहीं बीजेपी को अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से माँगनी चाहिए माफ़ी, तेलंगाना के मंत्री केटीआर ने पीएम पर साधा निशाना
Courtesy : Twitter

हैदराबाद। देश में बढ़ती नफरत और भाजपा प्रवक्ताओं द्वारा पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ आपत्तिजनक बयानों पर खाड़ी देशों द्वारा भारत सरकार से सार्वजनिक माफ़  की मांग पर तेलंगाना सरकार के मंत्री केटी रामा राव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा हैं।

केटी रामा राव ने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, एक देश के रूप भारत को भाजपा कट्टरवादियों के नफरती भाषणों के लिए अंतराष्ट्रीय समुदाय से माफी क्यों मांगनी चाहिए। यह भाजपा जिसे माफी मांगनी चाहिए, भारत को नहीं। आपकी पार्टी को सबसे पहले दिनोंदिन नफरत फैलाने के लिए देश में रहने वाले भारतीयों से माफी मांगनी चाहिए।

उन्होंने आगे लिखा कि मोदी जी, जब भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ने महात्मा गांधी की हत्या की सराहना की तो आपकी चुप्पी बहरा और चौंकाने वाली थी। मैं आपको याद दिला दूं सर; आप जो अनुमति देते हैं वह वही है जिसका आप प्रचार करते हैं। केंद्र से मौन समर्थन ने देश में कट्टरता और घृणा को बढ़ावा दिया है जिससे भारत को अपूरणीय क्षति होगी।

ये प्रतिक्रिया ऐसे समय में आई हैं जब खाड़ी के तीन देशों के विदेश मंत्रालयों ने भारतीय उच्चायोग को तलब कर इन बयानों पर जवाब तलब किया था। कतर के विदेश मंत्रालय ने भारतीय राजदूत दीपक मित्तल को तलब कर भारत सरकार से सार्वजनिक माफी और इन बयानों की निंदा करने की मांग की थी।

यह भी पढ़ें: क़तर ने कैंसिल किया उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का डिनर, भाजपा प्रवक्ता की विवादित टिप्पणी नागवार गुजरी

कतर के विदेश मंत्रालय ने अपने जारी बयान में कहा कि इस तरह की इस्लामाफोबिक टिप्पणियों को जारी रखना बिना सजा दिए अनुमति देना है। जो मानवाधिकारों की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा है जो देश में नफरत और हिंसा का चक्र निर्मित करेगा। भारतीय राजदूत दीपक मित्तल ने कहा कि ये किसी भी तरह से भारत सरकार के विचारों को प्रदर्शित नही करते हैं। ये केवल फ्रिंज एलीमेंट्स के विचार हैं

कतर की ये प्रतिक्रिया ऐसे समय में आई है जब देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू कतर के राजकीय दौरे पर हैं।इससे पहले कतर के उप एमिर द्वारा भारतीय उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू के सम्मान में दिया जाने वाला रात्रि भोज रद्द कर दिया था। हालांकि इसके कोविड को कारण बताया गया था।