हल्दिया की रैली में पीएम मोदी ने कहा, ममता बनर्जी को देश विरोधियों पर ग़ुस्सा नहीं आता

प्रधानमंत्री मोदी ने हल्दिया की चुनावी रैली में ममता बनर्जी पर किया तीखा हमला, रैली के पहले आयोजित पीएम के सरकारी कार्यक्रम में नहीं आईं मुख्यमंत्री

Updated: Feb 07, 2021, 07:49 PM IST

हल्दिया की रैली में पीएम मोदी ने कहा, ममता बनर्जी को देश विरोधियों पर ग़ुस्सा नहीं आता
Photo Courtesy : Indian Express

कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज असम में दो अस्पतालों का उद्घाटन करने के बाद बंगाल के हल्दिया में एक सरकारी कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे। प्रधानमंत्री ने हल्दिया में BPCL द्वारा निर्मित एलपीजी इम्पोर्ट टर्मिनल का उद्घाटन किया। इस सरकारी कार्यक्रम के साथ ही साथ प्रधानमंत्री ने हल्दिया में ही एक चुनावी रैली को भी संबोधित किया। बीजेपी की इस चुनावी रैली में मोदी ने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी भारत माता की जय और जयश्री राम के नारे से भड़क जाती हैं लेकिन देश की छवि को खराब करने की कोशिशों पर उन्हें गुस्सा नहीं आता। 

हल्दिया में चुनावी रैली के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मां, माटी और मानुस का नारा देने वाली पार्टी आज किसानों का शोषण कर रही है। मोदी ने रैली में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आप खुद देख सकते हैं, किसानों की भलाई के लिए कौन काम कर रहा है। मोदी ने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी की सरकार ने अब तक राज्य के किसानों का डेटा केंद्र सरकार को नहीं दिया है, जिससे पीएम किसान योजना का लाभ किसानों तक नहीं पहुँच पा रहा है।

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी के सरकारी कार्यक्रम में नहीं आएंगी ममता बनर्जी, पिछली बार लगाया था अपमान का आरोप

पश्चिम बंगाल चुनाव से पहले यह मोदी की पहली चुनावी रैली थी। इससे पहले मोदी 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे। उस दौरान ममता बनर्जी भी कार्यक्रम में पहुंची थीं। लेकिन जब ममता कार्यक्रम को संबोधित करने पहुंची तो मोदी समर्थकों ने उन्हें हूट करने के लिए मोदी-मोदी और जय श्री राम के नारे लगाने शुरू कर दिए। इसके बाद ममता बनर्जी ने मंच पर जाकर सरकारी कार्यक्रम को राजनीतिक कार्यक्रम में तब्दील करने पर नाराज़गी जाहिर की और भाषण दिए बिना ही वापस लौट आईं।   

यह भी पढ़ें :मोदी समर्थकों की नारेबाज़ी से भड़कीं ममता बनर्जी, कहा बुलाकर बेइज़्ज़ती करना ठीक नहीं

ठीक एक पखवाड़े बाद आज प्रधानमंत्री फिर सरकारी कार्यक्रम में पहुँच रहे थे। लिहाज़ा प्रोटोकॉल के तहत प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से ममता बनर्जी को भी न्योता भेजा गया था। लेकिन पीएम मोदी के पिछले सरकारी कार्यक्रम का अनुभव देखते हुए ममता बनर्जी ने इस बार मोदी समर्थकों की हूटिंग का शिकार बनने से इनकार कर दिया। दूसरी तरफ विक्टोरिया मेमोरियल में ममता के साथ हुई बदसलूकी पर चुप्पी साध लेने वाले प्रधानमंत्री मोदी ने हल्दिया में अचानक ही जय श्री राम का नारे का मुद्दा उठा दिया और ममता पर जमकर बरसने लगे। ध्यान रहे यह वही मोदी हैं जिन्होंने एक बार सार्वजानिक मंच पर एक मौलवी द्वारा भेंट किए गए चादर को ओढ़ने से मना कर दिया था।