जिनके पास इंटरनेट नहीं, उन्हें भी है जीवन का अधिकार, केंद्र की टीकाकरण नीति पर राहुल गांधी ने उठाए सवाल

राहुल गांधी ने केंद्र सरकार से की मांग, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के अलावा टीकाकरण केंद्र पर बिना रजिस्ट्रेशन के जाने वाले लोगों का हो टीकाकरण

Updated: Jun 10, 2021, 12:46 PM IST

जिनके पास इंटरनेट नहीं, उन्हें भी है जीवन का अधिकार, केंद्र की टीकाकरण नीति पर राहुल गांधी ने उठाए सवाल
Photo Courtesy: Times Of India

नई दिल्ली। केंद्र की टीकाकरण नीति पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर सवाल खड़े किए हैं। टीकाकरण नीति पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा है कि जिन लोगों के पास इंटरनेट नहीं है, उन्हें भी जीवन का अधिकार है। राहुल ने टीकाकरण के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन को नाकाफी बताया है, और साथ ही मांग की है कि टीकाकरण केंद्र पर बगैर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के जाने वाले लोगों को भी टीका लगाया जाना चाहिए। 

राहुल गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट किया है कि वैक्सीन के लिए सिर्फ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन काफी नहीं है। वैक्सीन सेंटर पर वॉक इन करने वाले हर व्यक्ति को टीका मिलना चाहिए। राहुल ने कहा है कि जीवन का अधिकार उनका भी है, जिनके पास इंटरनेट नहीं है। 

यह भी पढ़ें : कोरोना से भारत में एक दिन में रिकॉर्ड मौतें, बुधवार को 6 हज़ार से ज़्यादा लोगों की गई जान

दरअसल केंद्र सरकार ने टीकाकरण के लिए आरोग्य सेतु और cowin पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की है। यदि किसी व्यक्ति को टीका लगवाना है, तो उसे सबसे पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होता है। लेकिन ग्रामीण इलाकों में ज़्यादातर लोग इस व्यवस्था से समस्याओं का सामना कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें : टीका लेने वाले लोगों का एमपी पुलिस कर रही है सम्मान, लोगों को लगाया देशभक्ति का बैज

ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकतम लोगों के पास स्मार्टफोन नहीं होते, साथ ही उनके पास इंटरनेट की व्यवस्था नहीं होती जिससे वे टीका के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा सकें।साथ ही तकनीकी समझ न होने के कारण भी ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाली एक बड़ी आबादी वैक्सीनेशन से वंचित है।