राजस्थान: मंत्रिमंडल का पुनर्गठन आज, 15 नए मंत्री लेंगे शपथ, यहां देखें लिस्ट

शनिवार शाम हुए कैबिनेट बैठक के दौरान राजस्थान सरकार के सभी मंत्रियों ने सीएम अशोक गहलोत को अपना इस्तीफा दे दिया है, आज नए सिरे से मंत्रिपरिषद का गठन होगा

Updated: Nov 21, 2021, 09:22 AM IST

राजस्थान: मंत्रिमंडल का पुनर्गठन आज, 15 नए मंत्री लेंगे शपथ, यहां देखें लिस्ट

जयपुर। राजस्थान सरकार के सभी मंत्रियों ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है। जानकारी के मुताबिक शनिवार शाम हुई कैबिनेट बैठक के दौरान सीएम गहलोत ने सभी मंत्रियों का इस्तीफा ले लिया है। आज नए सिरे से मंत्रिपरिषद का गठन किया जाएगा। बताया जा रहा है कि आज शाम ही 15 नए मंत्रियों का शपथग्रहण समारोह भी होना है।

राज्य के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कल कैबिनेट की बैठक के बाद सभी मंत्रियों के इस्तीफे की पुष्टि की थी। खाचरियावास ने बताया सीएम गहलोत की अध्यक्षता में शनिवार को कैबिनेट की बैठक हुई, जिसमें सभी मंत्रियों ने अपने इस्तीफे देने संबंधी प्रस्ताव दिया। 

यह भी पढ़ें: हिंदू महासभा ने अब PM मोदी के लिए उगला जहर, कहा- जिसकी बात एक नहीं, उसका बाप एक नहीं

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक रविवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक होगी, जिसके बाद नए मंत्रिमंडल का ऐलान किया जाएगा। बताया जा रहा है कि मंत्रिमंडल के पुनर्गठन के बाद आज ही सभी नए मंत्रियों का शपथग्रहण भी होगा। खास बात ये है की नई कैबिनेट में सचिन पायलट कैंप के विधायकों को विशेष तवज्जों दी जाएगी। राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अजय माकन कैबिनेट पुनर्गठन के लिए शनिवार सुबह से ही जयपुर पहुंचे हुए हैं।

कैबिनेट में जिन 15 लोगों को शामिल किया जाएगा उनकी सूची सामने आई है। इनमें 11 कैबिनेट मंत्रियों का नाम है और चार राज्य मंत्री हैं। बताया जा रहा है कि बाकी 15 पुराने चेहरे ही रहेंगे। ऐसे में गहलोत कैबिनेट में कुल 30 मंत्री हो जाएंगे। बता दें कि राजस्थान कैबिनेट में 12 पद रिक्त था, वहीं प्रदेश अध्यक्ष डोटासरा समेत तीन उन मंत्रियों के इस्तीफे जिन्हें संगठन के लिए काम करना है रिक्त सीटों की संख्या 15 हो गई। ऐसे में आज 15 नए चेहरों को शामिल किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इनमें पांच पायलट समर्थक हैं। 

इसके पहले शुक्रवार शाम को ही शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा और राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने इस्तीफा दे दिया था। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को संबोधित इस्तीफे में तीनों मंत्रियों ने संगठन के लिए काम करने की इच्छा जताई थी। इसके बाद से ही मंत्रिमंडल पुनर्गठन के कयास लगाए जा रहे थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक कल कांग्रेस के सभी विधायकों को प्रदेश कार्यालय में दो बजे बुलाया गया है।