Mulayam Singh Yadav: मुलायम सिंह यादव कोरोना की चपेट में, मेदांता अस्पताल में भर्ती

Mulayam Corona Positive: मुलायम सिंह यादव की पत्नी साधना गुप्ता और 3 घरेलू सहायक भी कोरोना संक्रमित पाए गए

Updated: Oct 15, 2020, 09:23 AM IST

Mulayam Singh Yadav: मुलायम सिंह यादव कोरोना की चपेट में, मेदांता अस्पताल में भर्ती

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संस्थापक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। बुधवार को यह पता चलने के बाद उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया। पार्टी की ओर से ट्वीट करके बताया गया कि मुलायम सिंह को सांस लेने में तकलीफ के चलते उनकी जांच कराई गई तो संक्रमण की बात सामने आई। हालांकि फिलहाल उनमें कोरोना संक्रमण के कोई और लक्षण नहीं हैं। मुलायम के साथ–साथ उनकी पत्नी साधना गुप्ता भी कोरोना से संक्रमित पाई गई हैं।

मुलायम सिंह यादव के बेटे और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी उनके स्वास्थ्य के बारे में ट्वीट कर के जानकारी दी। यादव ने बताया कि वे अपने पिता के स्वास्थ्य को लेकर लगातार डॉक्टरों के संपर्क में हैं। ट्वीट में अखिलेश ने लिखा है, "माननीय नेताजी का स्वास्थ्य स्थिर है। आज कोरोना पॉज़िटिव होने पर गुड़गाँव के मेदांता में उन्हें स्वास्थ्य-लाभ के लिए भर्ती कराया था। हम वरिष्ठ डॉक्टरों के निरंतर संपर्क में हैं और समय-समय पर सूचित करते रहेंगे।"

कल अखिलेश यादव उपचुनाव को लेकर प्रदेश कार्यालय में चल रही मीटिंग को छोड़ अचानक मुलायम सिंह यादव से मिलने पहुंचे, जहां से वे सीधे उन्हें लेकर गुड़गांव के मेदांता गए। अस्‍पताल में डॉक्‍टरों ने बताया क‍ि उन्‍हें सांस लेने में द‍िक्‍कत हो रही थी, ज‍िसके बाद उन्‍हें यहां लाया गया था। मुलायम सिंह यादव की कोरोना जांच कराई गई, ज‍िसमें उनकी र‍िपोर्ट पॉज‍िट‍िव आई है। मुलायम और उनकी पत्नी साधना को रात लगभग 9.30 बजे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सीनियर फिजिशियन डा. सुशीला कटारिया की देखरेख में सभी का इलाज शुरू हो गया है। मुलायम के तीन घरेलू सहायक भी संक्रमित पाए गए हैं और उन्हें भी भर्ती करवाया गया है।

यूपी में दो मंत्रियों की हो चुकी है कोरोना से मौत

कोरोना के कारण उत्तर प्रदेश सरकार के दो मंत्रियों की मौत हो चुकी है। यूपी सरकार में प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमल रानी वरुण का दो अगस्त दिन रविवार को निधन हो गया था। कोरोना वायरस से संक्रमित कमल रानी का लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में इलाज चल रहा था। वह 62 साल की थीं। योगी सरकार में सैनिक कल्याण, होम गार्ड, पीआरडी, नागरिक सुरक्षा विभाग के मंत्री रह चुके चेतन चौहान की भी 16 अगस्त को कोरोना से मौत हो गई थी। चेतन किडनी में संक्रमण की वजह से भर्ती हुए थे। उनका इलाज भी मेदांता में ही चल रहा था।

90.24 प्रतिशत हुआ रिकवरी रेट

यूपी में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के स्वस्थ होने की रफ्तार और तेज हो गई है। बुधवार को प्रदेश का रिकवरी रेट 90.24 फीसद पहुंच गया। अब तक मिले कुल 4.45 लाख रोगियों में से चार लाख से अधिक मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। हालांकि 41 और लोगों की मौत के साथ यह वायरस प्रदेश में कुल 6,507 लोगों की जान ले चुका है।