UP के पूर्व राज्यपाल कुरैशी पर राजद्रोह का मुकदमा, CM योगी के खिलाफ की थी टिप्पणी

बीजेपी कार्यकर्ता के शिकायत पर रामपुर पुलिस ने की कार्रवाई, शैतान से की थी योगी सरकार की तुलना, शिकायतकर्ता का कहना है कि सांप्रदायिक दंगे भड़का सकता है कुरैशी का बयान

Updated: Sep 06, 2021, 12:17 PM IST

UP के पूर्व राज्यपाल कुरैशी पर राजद्रोह का मुकदमा, CM योगी के खिलाफ की थी टिप्पणी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस ने अपने ही राज्य के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है। वजह है कि कुरैशी ने योगी आदित्यनाथ को शैतान करार दिया था। इस बयान को पुलिस ने राष्ट्रीय एकता और अखंडता के खिलाफ माना है। मामले में शिकायतकर्ता का कहना है कि कुरैशी का बयान सांप्रदयिक दंगे भड़का सकता है।

पुलिस के मुताबिक रामपुर जिले के सिविल लाइंस थाने में सत्तारूढ़ बीजेपी के नेता आकाश सक्सेना की शिकायत पर कुरैशी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। एफआईआर के मुताबिक सक्सेना ने अपनी शिकायत में कहा कि पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी पूर्व मंत्री व सपा नेता आजम खान के घर उनकी पत्नी व रामपुर की विधायक तंजीम फातिमा से मिलने गए थे। सक्सेना का दावा है कि यहां उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली सरकार की तुलना 'शैतान से की। 

यह भी पढ़ें: ममता के खिलाफ उम्मीदवार तय करने में जुटी बीजेपी, पूर्व राज्यपाल तथागत रॉय और दिनेश त्रिवेदी का नाम चर्चा में

सक्सेना का यह भी आरोप है कि कुरैशी ने योगी सरकार को खून चूसने वाले राक्षस' भी कहा था। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा है कि कुरैशी का विवादित बयान दो समुदायों के बीच तनाव पैदा कर सकता है साथ ही इससे कम्युनल रायट्स भी भड़क सकते हैं। बीजेपी नेता के शिकायत पर रामपुर पुलिस ने राजद्रोह राजद्रोह, धर्म, जातियों के बीच वैमनस्य को बढ़ाने, राष्ट्रीय एकता और अखंडता के खिलाफ बयान देने, जनता के बीच भ्रम और दहशत फैलाने के आरोप में गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज की है।

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने इस बारे में कहा है कि जो अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करेगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा है कि आजम खान के खिलाफ भी कानून के अनुसार ही कार्रवाई हो रही है। सरकार और पुलिस ने अपना पक्ष कोर्ट के सामने रखा है। बीजेपी नेता आगे कहा कि यदि किसी को सरकार से शिकायत है तो कोर्ट में जाकर अपनी बात जाकर रखें।