UP में दिखी कानून के रखवालों की लाचारी, इटावा एसपी ने कहा सर बीजेपी वाले बम लेकर आए हैं

ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामांकन में यूपी के 22 ज़िलों में हुई हिंसा, 1730 अज्ञात एफआईआर.. इटावा के एसपी सिटी प्रशांत कुमार की व्यथा का एक वीडियो वायरल, जिसमें वे अपने सीनियर अधिकार को बोल रहे हैं कि बीजेपी वालों ने उन्हें थप्पड़ मारा

Updated: Jul 11, 2021, 01:27 PM IST

UP में दिखी कानून के रखवालों की लाचारी, इटावा एसपी ने कहा सर बीजेपी वाले बम लेकर आए हैं
Photo Courtesy: Social Media

इटावा। उत्तरप्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामांकन के दौरान सत्तारूढ़ भाजपाइयों द्वारा अराजकता फैलाने के बाद आज चुनाव वाले दिन भी बीजेपी नेताओं की गुंडागर्दी जारी है। प्रदेश के इटावा में फायरिंग की खबर है। बताया जा रहा है कि बीजेपी नेताओं ने लॉ एंड आर्डर ठीक करने में जुटे इटावा के सिटी एसपी प्रशांत कुमार तक को थप्पड़ मार दिया है। साथ ही उपद्रव करने से रोकने पर पुलिसकर्मियों पर पत्थरबाजी कर रहे हैं।

इटावा से एक वीडियो सामने आया जिसे देखकर समझा जा सकता है की वहां बीजेपी नेताओं द्वारा किस स्तर तक गुंडई की जा रही है। इटावा के एसपी प्रशांत कुमार खुद फोन पर आला अधिकारियों को स्थिति से अवगत कराते हुए कहते हैं कि मुझे भी थप्पड़ मारा गया है। इतना ही नहीं वीडियो में वह स्पष्ट रूप से कहते सुने जा सकते हैं कि बीजेपी विधायक और जिलाध्यक्ष के लोग बम भी लेकर आए हैं। 

इटावा के ही बढ़पुरा ब्लॉक में कई राऊंड फायरिंग चलने के बाद सिटी एसपी बीजेपी विधायक सरिता भदौरिया और जिलाध्यक्ष अजय धाकरे से हाथ जोड़कर ये गुहार लगाते रहे कि कार्यकर्ताओं को यहां से हटाइए, वे हमारे लोगों को मार रहे हैं। इस दौरान धाकरे उल्टा पुलिस पर ही लाठीचार्ज का आरोप लगाने लगे।

यह भी पढ़ें: UP में भाजपाइयों की गुंडागर्दी पर बवाल, राहुल गांधी बोले- हिंसा का नाम मास्टरस्ट्रोक कर दिया

प्रयागराज में तो बीडीसी सदस्य के अपहरण का प्रयास लाइव कैमरे में कैद हुआ है। यहां कुछ लोग बीडीसी सदस्य को जबरन चौपहिया वाहन में बैठा रहे थे, हालांकि, तभी दो-चार पुलिस वालों ने आकर उन्हें छुड़ाया। यहां से वो तत्काल भाग गए। 

उधर उन्नाव में कवरेज कर रहे एक मीडिया संस्थान के कैमरामैन को सीडीओ द्वारा दौड़ा-दौड़ा कर पीटने का वीडियो भी सामने आया है। 

प्रदेशभर में आज 476 ब्लॉक प्रमुख के पदों के लिए चुनाव हो रहे हैं। इसके लिए कुल 1174 उम्मीदवार मैदान में हैं। जबकि करीब 349 का निर्वाचन निर्विरोध हो चुका है, जिनमें अधिकांश बीजेपी के लोग हैं। इसके पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रदेश में हो रही हिंसा को लेकर तंज कसते हुए कहा कि उत्तरप्रदेश में हिंसा का नाम बदलकर मास्टरस्ट्रोक रख दिया गया है।