वडोदरा: ऊंची जाति की लड़की से बात करने पर दलित युवक की बेरहमी से पिटाई, वीडियो वायरल

कथित ऊंची जाति की महिला मित्र से बात करने की सजा, वडोदरा में दलित युवक की बेरहमी से पिटाई, वीडियो वायरल होने के बाद जांच में जुटी पुलिस

Updated: Dec 22, 2022, 06:12 PM IST

वडोदरा: ऊंची जाति की लड़की से बात करने पर दलित युवक की बेरहमी से पिटाई, वीडियो वायरल

वडोदरा। पीएम मोदी के गृहक्षेत्र वडोदरा से एक शर्मनाक मामला सामने आया है। यहां एक दलित युवक की मॉब लिंचिंग की कोशिश की गई। युवक का आरोप बस इतना था कि वह ऊंची जाति की लड़की से बातचीत कर रहा था। आरोपियों ने न सिर्फ उसकी बेरहमी से पिटाई की, बल्की वीडियो बनाकर भी वायरल किया।

मामला बीते 11 दिसंबर का बताया जा रहा है, जिसका वीडियो अब वायरल हो रहा है। वड़ोदरा जिले के तालुका पुलिस थाने में बुधवार को मामले की प्राथमिकी दर्ज की गयी। इसमें कहा गया है कि 24 वर्षीय शिकायतकर्ता अल्पेश पर उस समय हमला किया गया जब वह भायली-सेवासी मार्ग पर नर्मदा नहर के किनारे 11 दिसंबर को दोपहर करीब साढ़े तीन बजे वह अपनी एक महिला मित्र से बात कर रहा था। युवती उच्च जाति समुदाय की है।

यह भी पढ़ें: चीन में तबाही लाने वाले वेरिएंट के 4 केस भारत में मिले, आज से शुरू होगी कोरोना संबंधी पाबंदियां

इसी बात को लेकर उच्च जाति के साथ युवकों ने उसपर बेल्ट और लाठी-डंडों से हमला कर दिया।वड़ोदरा के पुलिस अधीक्षक रोहन आनंद ने मीडिया को बताया कि, “हमें ज्ञात हुआ है कि शिकायतकर्ता आरोपी के समुदाय की एक महिला के साथ रिलेशनशिप में है। हम आरोपियों की पहचान करने और महिला का बयान दर्ज करने की प्रक्रिया में हैं। जल्द ही हम आरोपियों की पहचान कर लेंगे।'

पुलिस के मुताबिक शिकायतकर्ता के हाथ, पैर, पीठ और सिर में गंभीर चोटें आई हैं। आरोपियों ने पुलिस से शिकायत करने पर शिकायतकर्ता को जान से मारने की धमकी भी दी थी। आरोपियों ने दूसरों को एक संदेश देने के लिए यह वीडियो बनाकर वायरल किया। आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा (143), (147), (149), (323) [506 (2)] और [294 (बी)] के तहत मामला दर्ज किया गया है।

दलित नेता व कांग्रेस विधायक जिग्नेश मेवानी ने इस घटना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कठघरे में खड़ा किया। जिग्नेश मेवाणी ने घटना का वीडियो ट्वीट कर लिखा, 'गुजरात में गुंडाराज। ऊना कांड के वक्त मोदी जी ने कहा था- "मारना है तो मुझे मारो, मेरे दलित भाईयो को नहीं" लेकिन प्रशासन द्वारा यह सुनिश्चित ही नहीं किया गया की दुबारा इस प्रकार की घटनाएं न घटे। नतीजा-कल वडोदरा जिले में दलित युवक की सरेआम लिंचिंग करने की कोशिश हुई।'