हमें कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत को जोड़े रखना है: केंद्र सरकार पर भड़के फारुक अब्दुल्ला

फारुक अब्दुल्ला बोले- मैं भारतीय मुसलमान हूं, चीनी नहीं, धर्म अलग भले हैं लेकिन वे हमें जोड़े रखते हैं, राम सिर्फ हिंदुओं के नहीं हैं, वे सबके हैं

Updated: Oct 13, 2022, 06:29 PM IST

हमें कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत को जोड़े रखना है: केंद्र सरकार पर भड़के फारुक अब्दुल्ला

मुंबई। महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में गुरुवार को विपक्ष की क्षेत्रीय पार्टियों के नेताओं का जमावड़ा लगा है। 'छगन भुजबल के अमृत महोत्सव' के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में विपक्षी दलों के कई दिग्गज पहुंचे। इस मौके पर नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारुख अब्दुल्ला ने कांग्रेस की तर्ज पर भारत को जोड़ने की बात कही।

फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि, 'मैं एक मुसलमान हूं, लेकिन कोई चीनी मुसलमान नहीं। मैं भारतीय मुसलमान हूं। हमें कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत को जोड़े रखना है।' उन्होंने आगे कहा कि, 'हमें भारत को एक करना है। हम सब में भिन्नता है, लेकिन हम इकट्ठा होकर ही भारत बना सकते हैं। क्योंकि मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना। हिंदी हैं हम वतन है हिंदोस्ता हमारा।'

फारुक अब्दुल्ला ने इस दौरान कहा कि, 'फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि धर्म भले अलग हैं, लेकिन वो हमें जोड़ता है। क्या भगवान राम सिर्फ हिंदुओं के हैं? वो तो अंग्रेजों, रूसियों के भी भगवान हैं। लेकिन सबको अलग किया जा रहा है। हम मस्जिद में जाकर नमाज पढ़ते हैं किसके सामने? वही ना जो हम सबका है।'

यह भी पढ़ें: प्री-करवाचौथ में मुस्लिम MLA को बुलाने पर बवाल, भाजपा प्रवक्ता ने किए नफरती पोस्ट

फारुख ने केंद्र सरकार कहा, 'आज गरीब महंगाई में पिस रहा है. हर दिन बेरोजगारी बढ़ रही है। लेकिन एक बात कहता हूं... भगवान को कभी छोड़िएगा नहीं। भगवान और अल्लाह ही हमें इस मुसीबत से बाहर निकालेगा।'

बता दें कि राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और अखिल भारतीय महात्मा फुले समता परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष छगन भुजबल 15 अक्टूबर 2022 को अपना 75वां जन्मदिन मना रहे हैं। इस अवसर पर छगन भुजबल गौरव समिति की ओर से राष्ट्रवादी कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष सांसद शरद पवार की अध्यक्षता में 13 अक्टूबर 2022 को दोपहर 1.30 बजे मुंबई के षणमुखानंद सभागार में ‘अमृत महोत्सव' समारोह का आयोजन किया गया। इसमें फारुख अब्दुला के साथ ही उद्धव ठाकरे और शरद पवार भी मौजूद रहे।