RBI गर्वनर ने आलू, प्याज और टमाटर को बताया शरारती सब्जियां, कहा- इनके कारण ही बढ़ती है महंगाई

इंदौर पहुंचे शक्तिकांत दास ने महंगाई पर होने वाले असर को TOP से समझाते हुए कहा कि T से टोमेटो यानी टमाटर, O से ओनियन यानी प्याज और P से पोटेटो यानी आलू में घट-बढ़ का असर पड़ता है।

Updated: Sep 01, 2023, 06:58 PM IST

RBI गर्वनर ने आलू, प्याज और टमाटर को बताया शरारती सब्जियां, कहा- इनके कारण ही बढ़ती है महंगाई

इंदौर। आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने आलू, प्याज और टमाटर को शरारती सब्जियां करार दिया है। आरबीआई गवर्नर ने कहा कि इन तीन सब्जियों के कारण ही देश में महंगाई बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि अगस्त की महंगाई दर ऊपर रही, लेकिन सितंबर में महंगाई दर कम रहे इस पर सरकार का जोर है।

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास शुक्रवार को इंदौर पहुंचे थे। यहां देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के तक्षशिला परिसर में उन्होंने स्टूडेंट्स से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारा मकसद यह है कि आप जान पाएंगे पॉलिसी बनाते समय कैसे सोचा जाता है। कैसे डिसीजन लिए जाते हैं। हम भी कोशिश करते हैं कि ग्राउंड रियलिटी के बारे में समझ के जमीनी लोगों के लिए पॉलिसी बनाई जा सके।

यह भी पढ़ें: हम एकजुट रहेंगे तो बीजेपी का जीतना नामुमकिन, INDIA गठबंधन की प्रेस कांफ्रेंस में बोले राहुल गांधी

छात्रों को संबोधित करते हुए आरबीआई गवर्नर ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में तीन चीजों (टमाटर, प्याज और आलू) में से एक खाद्य मुद्रास्फीति का कारण रहा है। इन तीन में से एक सब्जी के दुर्व्यवहार के कारण महंगाई बढ़ती होती है। महंगाई पर होने वाले असर को TOP से समझाते हुए बताया कि T से टोमेटो यानी टमाटर, O से ओनियन यानी प्याज और P से पोटेटो यानी आलू में घट-बढ़ का असर पड़ता है।

इस दौरान आरबीआई गवर्नर ने UPI को लेकर कहा कि हमारे देश के लिए यह बड़ी सफलता है। देश में यूपीआई से नंबर ऑफ ट्रांजैक्शन प्रति माह 10 बिलियन तक पहुंच गया है। यूपीआई सितंबर 2016 में शुरू हुआ था। ये लगातार बढ़ रहा है। हम डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी का अभियान भी चल रहा है। ये पायलट प्रोजेक्ट ऑपरेशन में है। कई ट्रायल हो चुके हैं। क्रिप्टो करेंसी को लेकर शक्तिकांत दास ने कहा कि हमारा स्टैंड क्लियर है। ये सीरियस रिस्क फाइनेंशियल सिस्टम को लेकर है।