MP Farmers Protest: छिंदवाड़ा में किसानों का प्रदर्शन

Crop Loss in MP: फसल खराब होने से दु:खी किसानों ने किया कलेक्ट्रेट का घेराव, बाढ़ पीड़तों की सहायता के लिए कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

Updated: Sep 09, 2020 12:23 AM IST

MP Farmers Protest: छिंदवाड़ा में किसानों का प्रदर्शन

छिंदवाड़ा। मध्यप्रदेश में पिछले दिनों हुई मूसलाधार बारिश से किसानों की सोयाबीन और अन्य फसलें खराब हो गई है। लेकिन किसानों की फसल का न ही सर्वे हुआ है और न उन्हे किसी तरह की मदद सरकार की ओर से मिली है। इलाके के किसानों ने अतिवृष्टि से खराब हुई फसलों, बाढ़ प्रभावित इलाकों में हुए नुकसान और क्षतिग्रस्त मकानों के जल्द से जल्द मुआवजे की मांग की।

किसानों ने छिंदवाड़ा कलेक्ट्रेट का घेराव कर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान स्थानीय विधायक सुनील उइके और जुन्नारदेव विधानसभा क्षेत्र के  कार्यकर्ताओं मौजूद थे। किसानों के इस प्रदर्शन पर मध्यप्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट किया है कि’ शिवराज जी, जनता के सब्र का इम्तिहान मत लो, वर्ना जनता ने बड़े-बड़े अहंकारी ठीक किये हैं।

हजारों की संख्या में पहुंचे किसानों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर के ज्ञापन सौंपा और मांग की है कि जल्द से जल्द उन्हे सहायता राशि प्रदान की जाए। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शिवराज सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

Click MP Farmers Suicide: छिंदवाड़ा में भी किसान आत्महत्या, पांच दिनों में छठा मामला

बाढ़ पीड़ित किसानों का कहना है कि मौसम की मार से उनकी पूरी फसल नष्ट हो गई है। सरकार द्वारा सर्वे करने में देरी की जा रही है। नहीं कराया जा रहा। किसानों का आरोप है कि उनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। स्वयं को किसान पुत्र कहलाने वाले मुख्यमंत्री किसानों की अनदेखी कर रहे हैं। किसानों ने शिवराज सरकार से सहायता राशि की मांग की है।

Click  शिवराज चौहान ने कहा था 6 सितंबर को पैसा आएगा, पैसा नहीं आया किसान ने जान दी

आपको बता दें कि सोमवार को श्योपुर में कांग्रेस विधायक बाबू जंडेल के नेतृत्व में किसानों ने आंदोलन किया था। श्योपुर में गुस्साए किसानों ने अपनी चौपट हुई फसल की होली जलाकर विरोध प्रदर्शन भी किया था।

Click  MP News: चार दिन में पांच किसानों ने की आत्महत्या, ताज़ा घटना विदिशा में

गौरतलब है कि पिछले दिनों फसल खराब होने से दुखी होकर सीहोर, विदिशा में कई किसानों ने अपनी जान देदी थी।