कश्मीर में बर्बाद हो रहा है करोड़ों का सेब, हाईवे खोलने के लिए खुदा का वास्ता भी नहीं आ रहा काम

सेब किसानों और व्यापारियों के समर्थन में आयीं महबूबा मुफ़्ती ने कहा है कि केंद्र सरकार ने कश्मीर को खुली जेल बना दिया है, जानबूझकर हाईवे बंद कर दिया गया, आखिर कब तक कश्मीरियों के धैर्य की परीक्षा ली जाएगी

Updated: Sep 29, 2022, 09:39 AM IST

कश्मीर में बर्बाद हो रहा है करोड़ों का सेब, हाईवे खोलने के लिए खुदा का वास्ता भी नहीं आ रहा काम

जम्मू कश्मीर। जम्मू कश्मीर के सेब उत्पादक किसानों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया है। अरबों रुपए का सेब ट्रकों में सड़ रहे हैं लेकिन सरकार ने हाईवे को ब्लॉक कर रखा है। कश्मीरी किसान केंद्र सरकार से हाथ जोड़कर विनती कर रहे हैं कि रास्ता खोला जाए। लेकिन सरकार ने बिना कारण बताए रास्तों को ब्लॉक कर रखा है। पीडीपी चीफ व जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि आखिर कबतक कश्मीरियों के धैर्य का परिक्षा लिया जाएगा।

रिपोर्ट्स के मुताबिक करीब हाईवे 8 हजार सेब से भरे हुए ट्रक इधर उधर फंसे हुए हैं। इन्हें बांग्लादेश, नेपाल और दिल्ली के बाजारों के लिए रवाना किया गया था। करीब दो हफ्ते से रास्ते क्लियर नहीं होने के कारण ट्रक फंसे हुए हैं और उसमें रखे सेब सड़ने लगे हैं। लेकिन तमाम विरोध के बावजूद रास्तों को खोलने संबंधी कोई निर्देश जारी नहीं हुए हैं। सेब के ट्रकों को क्यों रोका जा रहा है इसका कोई स्पष्ट कारण भी नहीं है। आम लोगों के लिए रास्ते खोले गए हैं, फलों वाले ट्रक ही रोक गए हैं।

यह भी पढ़ें: मंडियों में नए सोयाबीन की आवक शुरू, लागत मूल्य निकालने की जद्दोजहद, फीकी हुई पीले सोने की चमक

सोशल मीडिया पर एक किसान का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इसमें वह केंद्र से गुहार लगाते हुए कहा है कि हाथ जोड़ रहा हूं। खुदा के लिए रास्ते खोल दीजिए। किसान मर रहे हैं। बहुत बड़ा बड़ा नुकसान हो चुका है। ऐसा ही रहा तो हम आत्महत्या करने को मजबूर हो जाएंगे। किसान बताता है कि किस तरह साढ़े 13 लाख रुपए का सेब ट्रक से निकला था। लेकिन रास्ते बंद होने के कारण सेब खराब हो गए और उसे सिर्फ 1 लाख 35 हजार रुपए मिले। जबकि ट्रांसपोर्ट का खर्च ही 2 लाख 20 हजार रुपए था।

कश्मीर में किसानों की स्थिति बेहद खराब होती जा रही है। वे दो दिवसीय बंद भी बुला चुके हैं। वे रो रहे हैं, आग्रह कर रहे हैं, बावजूद सरकार कि ओर से कोई पहल नहीं की जा रही है। नतीजतन लाखों सेब उत्पादक किसानों के सामने बड़ी संकट उत्पन्न हो गई। पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने हाईवे बंद रखने को लेकर केंद्र पर हमला बोला है। मंगलवार को मुफ्ती ने कहा कि आखिर सरकार कब तक कश्मीरियों के धैर्य का परिक्षा लेगी।

महबूबा मुफ्ती ने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि, 'आपने कश्मीर को खुली जेल में बदल दिया है। हमारी अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है। मैं प्रशासन को चेतावनी देती हूं कि अगर वो तुरंत ट्रकों के लिए सड़क नहीं खोलती तो मैं अपने कार्यकर्ताओं के साथ धरना करूंगी।  प्रशासन जानबूझकर ऐसा कर रहा है। क्या किसानों को हुए नुकसान की भरपाई प्रशासन करेगा?'