बारिश से तरबतर भोपाल, आज भी नॉनस्टॉप बारिश जारी, कई बस्तियां जलमग्न

मध्य प्रदेश में पिछले 7 दिनों में बिजली गिरने से 47 मौतें, 70 से अधिक घायल, राजधानी भोपाल में रातभर बारिश, सुबह भी तेज बौछारें, मौसम विभाग ने जारी किया है भारी बारिश का रेड अलर्ट

Updated: Jul 11, 2022, 09:40 AM IST

बारिश से तरबतर भोपाल, आज भी नॉनस्टॉप बारिश जारी, कई बस्तियां जलमग्न

भोपाल। मध्य प्रदेश में मानसून सक्रिय है। राजधानी भोपाल में भी हफ्तेभर से मूसलाधार वर्षा हो रही है, जिससे मौसम बहुत सुहाना हो गया है। पेड़ धुल जाने से शहर और हरा-भरा व खूबसूरत दिखने लगे हैं, इसके साथ ही तापमान में भी काफी गिरावट आई है। मौसम विभाग ने भोपाल में बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है।

रविवार को भोपाल में रातभर बारिश हुई। सोमवार सुबह से भी नॉन स्टॉप मूसलाधार बारिश जारी है। बारिश का असर बड़े तालाब के लेवल पर भी पड़ा। अब तालाब का जलस्तर सीजन में सबसे ज्यादा 0.70 फीट बढ़कर 1660.50 फीट पर पहुंच गया। राजधानी की कई निचली बस्तियों में 3 फीट तक पानी भर गया है। कई बस्तियां पूरी तरह जलमग्न हो चुकी है।

भोपाल के गांधी नगर इलाके में निचली बस्ती में रविवार को पानी भरने के बाद एक परिवार को फायर टीम ने रेस्क्यू किया। कुछ यही हालत आधे शहर के रहे। शाहजहांनाबाद से लेकर करोंद, अशोका गार्डन, ऐशबाग, जहांगीराबाद, गांधी नगर समेत अधिकांश निचले इलाकों में बारिश का पानी घरों में घुस गया। सोमवार सुबह भी लोगों के लिए मुसीबत भरी है।

भोपाल में रविवार को शाम 6.30 से रात 8.30 तक लाइटनिंग हाई अलर्ट था। रिपोर्ट्स के मुताबिक 7 बजे से 8.30 के बीच हर 15 मिनट में औसतन 3500 बार धरती पर आकाशीय बिजली से करंट डिस्चार्ज हुआ। शनिवार को भोपाल के 40 किमी दायरे में 6926 स्थानों पर बिजली गिरी थी। गनीमत रही की कोई ज्यादा नुकसान नहीं हुआ। हालांकि, प्रदेशभर में पिछले 7 दिन में बिजली गिरने से 47 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 70 घायल हुए हैं।

बताया जा रहा है कि मध्य प्रदेश में मंगलवार को बारिश से कुछ राहत रह सकती है, लेकिन 13 से नया सिस्टम बन रहा है। बंगाल की खाड़ी में 13 जुलाई से लो प्रेशर एरिया बन जाएगा। इससे फिर 13 से 17 तक जमकर बारिश होगी।