जहां कांग्रेस की सीट, वहां कराए जा रहे हैं दंगे, कांग्रेस नेताओं ने BJP पर लगाए गंभीर आरोप

राजधानी भोपाल में कांग्रेस नेताओं का प्रेस कांफ्रेंस, बीजेपी और संघ पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- जब इन्हें लगता है कि सत्ता हाथ से फिसलने लगी तो प्रदेश को दंगों की आग में झोंक देते हैं

Updated: May 05, 2022, 08:57 AM IST

जहां कांग्रेस की सीट, वहां कराए जा रहे हैं दंगे, कांग्रेस नेताओं ने BJP पर लगाए गंभीर आरोप

भोपाल। मध्य प्रदेश में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की लगातार कोशिशें हो रही है। इसी बीच मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने प्रदेश सरकार, बीजेपी और आरएसएस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। कांग्रेस ने दावा किया है कि जहां कांग्रेस की सीट है वहां दंगे करने की साजिशें रची जा रही है। खरगोन विधानसभा क्षेत्र उसका एक उदाहरण है।

राजधानी भोपाल स्थिति कांग्रेस मुख्यालय में बुधवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता केके मिश्रा और नरेंद्र सलूजा ने एक संयुक्त पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने राज्य की शिवराज सरकार, सत्ताधारी दल और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर आरोप लगाया कि वे सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: सिवनी कांड पर घिरी मध्य प्रदेश सरकार, आदिवासी नेता ने कहा- शिवराज जी कार्रवाई करें या कुर्सी छोड़ें

अरुण यादव ने इस दौरान कहा कि, 'जहां कांग्रेस की सीट है वहां दंगे कराए जा रहे हैं। भाजपा और संघ के लोग दंगा करा रहे हैं, ताकि कांग्रेस का वोट बैंक कट सके। बीजेपी और संघ को जब लगता है कि चीजें उनके कंट्रोल में नहीं है और सत्ता हाथ से फिसलने वाली है तब वो हिंसा करवाते हैं। दो धड़ों में बांटने के लिए चुनावी दंगे कराए जा रहे हैं।' उन्होंने बताया कि पीसीसी चीफ कमलनाथ ने सिवनी घटना पर जांच कमेटी गठित की है। नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह के नेतृत्व में कमेटी बनाई गई और और गुरुवार को जांच दल सिवनी जाएगा।

पत्रकारों को संबोधित करते हुए कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कहा कि, 'बीजेपी मध्य प्रदेश को सांप्रदायिकता की आग में झोंकने का षड्यंत्र रच रही है। ताकि राजनीतिक रोटियां से की जा सके। खरगोन के बाद बुरहानपुर में दो दिन पहले मालीवाड़ा स्थित हनुमान मंदिर में मूर्ति से छेड़छाड़ करने की घटना सामने आई। सीसीटीवी कैमरों की जांच में भाजपा से जुड़े नेता का नाम सामने आया है पर अभी तक सरकार द्वारा कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई।'

यह भी पढ़ें: मेरे बच्चे मर रहे हैं, हाथ जोड़ रहा हूं मुझे जाने दो, रोता रहा पत्रकार, बेरहमी से पीटते रहे हॉस्पिटल के गार्ड्स

पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया ने कहा कि, 'प्रदेश में आदिवासियों के खिलाफ अत्याचार की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। देवास के नेमावर में पांच आदिवासियों की हत्या के बाद अब सिवनी में मामला सामने आया है। भाजपा से जुड़े संगठन के लोगों ने दो आदिवासियों की पीट-पीटकर हत्या कर दी लेकिन अभी तक ठोस कार्यवाही नहीं हुई है। इसको लेकर राज्यपाल को ज्ञापन भी दिया गया है। इसके पूर्व रायसेन में भी आदिवासियों के घर जलाने की घटना सामने आ चुकी है।